PM मोदी के नाम CM नवीन पटनायक का पत्र, फानी से हुई तबाही पर पुनर्वास के लिए मांगी मदद

नई दिल्ली। ओडिशा ( Odisha ) के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ( Naveen Patnaik ) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को फानी तूफान से मची तबाही को लेकर एक पत्र लिखा है। पटनायक ने इस पत्र के जरिए केन्द्र सरकार से मिली मदद के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद बोला है। साथ ही उन्होंने तूफान से हुए नुकसान का जिक्र करते हुए पुनर्वास के लिए पीएम से ममद मांगी है।
पीएम के नाम पटनायक का पत्र
ओडिशा सीएम नवीन पटनायक ने सोमवार को पीएम मोदी को यह पत्र लिखा है। उन्होंने लिखा, ‘डियर प्रधानमंत्री जी, सबसे पहले मैं केंद्र सरकार को फानी के बाद ओडिशा सरकार को दी गई मदद के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। प्रभावित जिलों में बड़ी संख्या में लोग मुश्किलों से गुजरे हैं, उनका आसरा भी छिन गया है। प्रदेश सरकार नुकसान का आकलन कर रही है जो काफी जल्द पूरा होने की संभावना है। तबाह घरों की सटीक संख्या और इससे जुड़ी जानकारी सर्वे पूरा होने के बाद ही मिल पाएगी. हालांकि शुरुआती अनुमान की मानें तो सबसे ज्यादा प्रभावित 14 जिलों में तकरीबन 5 लाख घर या तो पूरी तरह नष्ट हो चुके हैं या बड़े स्तर पर उन्हें नुकसान पहुंचा है। इस तूफान में सबसे ज्यादा क्षति पुरी जिले में हुई है।’ पटनायक ने आगे पत्र में लिखा कि तबाही का जायजा लेने के लिए छह मई को आप ओडिशा आए थे। उस दौरान राज्य प्रशासन ने क्षति के बारे में आपको पूरी जानकारी भी दी और आपने मदद भी की। बैठक में इस बात का भी जिक्र हुआ था कि तटीय इलाकों में आपदा झेल सकने वाले घर बनाए जाएं ताकि ऐसे हालात पैदा न हों। इसे देखते हुए ओडिशा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आपसे 5 लाख घर बनाए जाने की मांग करता हूं।
 

Chief Minister of Odisha Naveen Patnaik writes to Prime Minister Narendra Modi thanking the Union Government for the help rendered to the state during #CycloneFani and to consider sanctioning 5 lakh PMAY(G) special houses. pic.twitter.com/BMpYjG26Af— ANI (@ANI) May 13, 2019

पटनायक ने केन्द्र सरकार से मांगी सहायता
पटनायक ने पत्र के अंत में लिखा कि जल्द ही बारिश का मौसम आने वाला है और 10 जून तक मॉनसून भी ओडिशा में दस्तक दे सकता है। इसलिए प्रभावित लोगों को पक्का मकान मिल सके, इसके लिए केंद्र सरकार के प्रस्तावों के मद्देनजर ओडिशा सरकार 1 जून 2019 से कार्य आदेश पारित करने जा रही है। गौरतलब है कि एक हफ्ते पहले ही नवीन पटनायक ने तबाही को देखते हुए केंद्र से 17,000 करोड़ रुपए की सहायता मांगी थी।