LIVE: गोवा ‘सिंहासन’ के लिए रेस शुरू, सीएम के नाम पर फैसला जल्द- श्रीपद नाइक

नई दिल्ली। भाजपा के दिवंगत नेता मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में एक बार फिर सियासी संग्राम शुरू हो गया है। एक ओर भाजपा में सीएम के नये चेहरे को लेकर मंथन जारी है। वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस लगातार सरकार बनाने का दावा पेश कर रही है। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि प्रदेश में आगे किसकी सरकार बनेगी?
वहीं केंद्रीय मंत्र श्रीपद नाइक ने कहा कि हमारे बीच कोई मतभेद नहीं है। गोवा में सीएम के नाम पर फैसला जल्द आने वाला है। उन्होंने कहा कि सीएम के लिए जिसका नाम आएगा सब सहमत होंगे।
 

#Goa: Congress delegation meets Governor Mridula Sinha in Panaji. pic.twitter.com/pjQhHcwHxx— ANI (@ANI) March 18, 2019

—अपडेट—
– कौन बनेगा गोवा का अगला मुख्यमंत्री? प्रदेश में एक बार फिर किसकी होगी सरकार?
– राज्यपाल से मिलने के बाद कांग्रेस ने कहा कि हम गोवा में हम सबसे बड़ी पार्टी हैं
– कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने की राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात
– भाजपा में सीएम उम्मीदवार के लिए बैठकों का दौर जारी- बैठक में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता शामिल- नितिन गडकरी की अगुवाई में सीएम के लिए मंथन जारी- कांग्रेस ने भी पेश की सरकार बनाने की दावेदारी- कांग्रेस के 14 विधायक राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मिलने राजभवन पहुंचे- भाजपा में सीएम उम्मीदवार के लिए तीन नामों पर चर्चा- प्रमोदा सावंत, विश्वजीत राणे और विनय तेंदुलकर के नाम पर चर्चा- शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन
गोवा विधानसभा का समीकरण
40 विधानसभा सीटों वाले गोवा में भाजपा के पास 12 विधायक हैं। वहीं भाजपा को गोवा फॉरवर्ड पार्टी और एमजीपी के तीन-तीन और एक अन्य दल के विधायक का समर्थन हासिल है। इसके अलावा एक निर्दलीय उम्मीदवार भी भाजपा के समर्थन में है। वहीं, कांग्रेस के पास 14 विधायक हैं। भाजपा विधायक फ्रांसिस डिसूजा और रविवार को पर्रिकर के निधन और पिछले साल कांग्रेस के दो विधायकों सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोपटे के इस्तीफे के कारण सदन में विधायकों की संख्या 36 रह गयी है।गोवा में अब सरकार बनाने के लिए 19 विधायकों की जरूरत है। भाजपा के पास गोवा फॉरवर्ड पार्टी और एमजीपी सहित अन्य साथी दलों के समर्थन से 20 विधायक हैं। जबकि, कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण सरकार बनाने का दावा पेश कर रही है।