EVM पर फिर छिड़ी जंग, अभिषेक मनु सिंघवी का EC पर बड़ा आरोप, सुप्रीम कोर्ट जाने की दी चेतावनी

नई दिल्‍ली। रविवार को विपक्षी पार्टियों की ओर से आयोजित एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कांग्रेस नेता और चर्चित वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्‍होंने मीडियाकर्मियों को बताया कि लाखों मतदाताओं के नाम बिना भौतिक सत्यापन के ऑनलाइन हटा दिए गए हैं। मतदाता वोट एक्‍स पार्टी को डालता है लेकिन वह वाई पार्टी के खाते में कांउट होता है। उन्‍होंने कहा कि ईवीएम को लेकर विपक्षी पार्टियों की अन्‍य शिकायतों को भी चुनाव आयोग द्वारा गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। उन्‍होंने ईसी को चेतावनी दी है कि अगर इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया तो विपक्षी पार्टियां सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में दखल देने की मांग करेंगी।
टीडीपी सांसद रविंद्र कुमार बोले, ‘ईवीएम मुद्दे पर EC का हरि प्रसाद से बात न करना दुर्भाग्‍यपूर्ण’
केवल 3 सेंकेंड के लिए दिखता है वीवीपैट पर्ची
उन्‍होंने कहा कि इन कमियों को लेकर विपक्षी पार्टियों की ओर से चुनाव आयोग को एक लंबी सूची सौंपी गई हैं। बड़ी संख्‍या में कमियों को देखते हुए वीवीपैट के पेपर ट्रेल के कम से कम 50 फीसदी मतों को गिनना अब और भी आवश्यक हो गया है। अभिषेक मनु सिंघवी ने चुनाव आयोग की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा है कि मुझे नहीं लगता है कि चुनावी खामियों को लेकर दर्ज कराई गई शिकायतों को चुनाव आयोग गंभीरता से ले रहा है। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि यदि मतदाता एक्‍स पार्टी को वोट डालते हैं तो वोट वाई पार्टी को वोट चला जाता है। इतना ही नहीं वोट डालने के बाद वीवीपैट पर्ची सात सेकेंड के बजाय केवल तीन सेंकेंड के लिए प्रदर्शित होता है।
पीएम मोदी ने बाबा साहेब को दी श्रद्धांजलि, देश भर से आ रहे हैं सामाजिक समरसता का संदेश
 

Abhishek Singhvi, Congress: Names of Lakhs of voters are deleted online without physical verification. There is a long list the parties have given to EC. It has become even more necessary to count at least 50% of the paper trail of VVPAT. We will demand the same in Supreme Court . pic.twitter.com/8afjSxBqOc— ANI (@ANI) April 14, 2019

ईवीएम से हो रही है छेड़छाड़
कॉन्‍फ्रेंस के दौरान दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर कहा कि ईवीएम मीशन खराब नहीं है। ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ हो रही है। छेड़छाड़ की गई मशीन से ही भाजपा के पक्ष में वोट जा रहा है।
आंबेडकर लोकतंत्र को बेहतर शासन पद्धति के साथ सामूहिकता का साझा अहसास भी मानते थेIndian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर .. Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.