BJP सांसद बाबुल सुप्रियो का ‘महागठबंधन’ पर तंज, ‘भ्रष्टाचारियों को बचाने साथ हुआ है विपक्ष’

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री और पश्चिम बंगाल आसनसोल लोकसभा सीट से भारत जनता पार्टी (BJP) की उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ‘महागठबंधन’ सिर्फ ‘भ्रष्ट राजनीतिक नेताओं का गंभीर आरोपों से भागने का एक प्रयास मात्र है।’ इसके साथ ही उन्होंने दावा किया विपक्ष के गठबंधन का नरेंद्र मोदी सरकार पर कोई खतरा नहीं है। इससे BJP को कोई परेशानी नहीं होगी।
ममता बनर्जी पर निशाना
अपने संसदीय क्षेत्र दुर्गापुर में जनसभाओं के दौरान मीडिया से बात करते हुए सुप्रियो ने ममता सरकार पर भी हमला बोला। तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी को निशाना बनाते हुए उन्होंने कहा ममता ने चिटफंड घोटाले की जांच के सिलसिले में शहर के तत्कालीन पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के CBI के प्रयासों का विरोध किया। सुप्रियो ने कोलकाता में ममता के धरने को निशाना बनाते हुए कहा, ‘हमें यह समझना होगा कि क्यों ममता बनर्जी जैसे लोग लगातार मोदीजी के बारे में बात कर रहे हैं। ममता सरकार में रोज वेली और शारदा चिटफंड मामले में करीब 40,000 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है और न्याय दिलाने के बदले, वह अपने संदिग्ध आईपीएस अधिकारी को कोलकाता में बचाने की कोशिश कर रही हैं।’ सुप्रियो ने दावा किया, ‘इस बात का सबूत है कि राजीव कुमार ने शारदा चिटफंड मामले में जांचकर्ताओं को गुमराह करने की कोशिश की थी।’
कोई दो मोर्चा नहीं
इसके साथ ही सांसद सुप्रियो ने कहा, ‘यह अब हास्यास्पद बात है कि विपक्ष दो मोर्चों की बात कर रहा है, एक कांग्रेस के साथ और एक कांग्रेस के बिना। सच्चाई यह है कि कोई मोर्चा है ही नहीं। यह और कुछ नहीं भ्रष्टाचारियों के बीच में एक सांठगांठ है। वे अपने ऊपर लगे गंभीर भ्रष्टाचार के आरोपों से पिछले दरवाजे से बच निकलना चाहते हैं।’
रिश्तेदारों और दोस्तों को जांच से बचाने के लिए किया गठबंधन
सुप्रियो ने आरोप लगाया कि कई विपक्षी नेता एक साथ आए हैं क्योंकि वे अपने या अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के खिलाफ चल रही जांच को रोकने के लिए बेताब हैं। सुप्रियो ने कहा, ‘विपक्षी नेताओं के अनुसार, उनके खिलाफ चल रही सभी जांच भाजपा द्वारा राजनीतिक प्रतिशोध है, जबकि अधिकांश जांच सर्वोच्च न्यायालय के सीधे आदेशों के तहत की जा रही है।’Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..