BJP ने गृह मंत्रालय से कहा- वापस ली जाए सीएम अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा

नई दिल्ली। एक ओर देश में राजनीतिक दल भावी सरकार बनाने की तैयारियों में जुटे हुए हैं, तो वही दूसरी ओर राजधानी दिल्ली में अलग ही सियासत चल रही है। बीजेपी की दिल्ली इकाई ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal ) की सुरक्षा हटाने की मांग करते हुए दिल्ली पुलिस ( Delhi police ) को पत्र एक खत लिखा है।
पीएम मोदी की उत्तराखंड यात्रा पर विवाद, TMC और TDP ने कहा- ये आचार संहिता का उल्लंघन
बीजेपी ने गृह मंत्रालय को लिखा खत
दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने रविवार को दिल्ली के पुलिस आयुक्त, गृह मंत्रालय ( Home Ministry ) और उपराज्यपाल को पत्र लिखा है। जिसमें मांग की गई है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को दी गई सभी प्रकार की सुरक्षा को वापस ले लिया जाए। पत्र में कहा गया है कि दिल्ली पुलिस को अरविंद केजरीवाल से कहना चाहिए कि वह दिल्ली पुलिस से माफी मांगें। यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो मुख्यमंत्री की सुरक्षा वापस ले लेनी चाहिए।
केजरीवाल के हत्या वाले आरोप पर छिड़ा ट्विटर वॉर, सिसोदिया ने लिया विजेंद्र गुप्ता का नाम
‘केजरीवाल के आरोपों से डिप्रेशन में सुरक्षाकर्मी’
कपूर ने केजरीवाल के उन सुरक्षाकर्मियों की मानसिक स्थिति के बारे में भी चिंता जताई, जो आरोपों के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात हैं। उन्होंने सुरक्षाकर्मियों के लिए मनोवैज्ञानिक परामर्श की मांग भी की। कपूर ने कहा कि मेरा मानना है कि अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा में तैनात सभी कर्मी यह जानने के बाद डिप्रेशन का सामना कर रहे होंगे कि जिसकी सुरक्षा में वे तैनात हैं, वही उनसे जान का खतरा बता रहा है।
पीएम मोदी की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर कांग्रेस की चुटकी, कहा- आम के बारे में कोई सवाल नहीं ?
क्या है पूरा मामला
दरअसल दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आशंका जताई थी कि जिस तरहा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सुरक्षाकर्मियों द्वारा उनकी हत्या की गई थी, उसी तरह उनकी भी हत्या हो सकती है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा था कि बीजेपी मेरे अपने ही पीएसओ (निजी सुरक्षा अधिकारी) से एक दिन मेरी हत्या करवा देगी। मेरे खुद के सुरक्षा अधिकारी बीजेपी को रिपोर्ट करते हैं। बीजेपी मेरी जान के पीछे पड़ी है, वे लोग एक दिन मेरी हत्या करवा देंगे। इस बयान को लेकर शनिवार से ही जबरदस्त राजनीति हो रही है।
Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..