1984 सिख दंगा: सैम के बयान पर अमरिंदर ने दी नसीहत तो सिंघवी ने किया किनारा

नई दिल्ली। 1984 के सिख दंगों को लेकर कांग्रेस के नेता सैम पित्रोदा के बयान पर अब कांग्रेस में ही दो फाड़ हो गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Captain Amarinder Singh ) ने पित्रोदा के बयान को हैरान करने वाला बताया है। वहीं अभिषेक मनु सिंघवी ( abhishek manu singhavi ) ने भी सैम को संभल कर बोलने की नसीहत दी है।
ये एक बयान बात: कैप्टन अमरिंदर
कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि मैं हैरान हूं। हालांकि मुझे नहीं पता कि सैम पित्रोदा ने क्या कहा है, किस संदर्भ में ऐसा बयान दिया है। लेकिन यह बहुत दुखद है, यह एक भयानक बात है। इस तरह के बयान स्वीकार नहीं किए जाएंगे। ये सरकार की ड्यूटी है कि वह पता लगाए, वास्तव में क्या हुआ था। कौन इसके लिए उत्तरदायी थे, इन सभी का सच सामने आना चाहिए। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि कितने साल बीत चुके हैं। 1984 का दंगा एक बड़ी घटना थी और संवेदनशील मामला है। ऐसे मुद्दे पर बोलने से पहले सोच समझ लेना चाहिए।
हिमाचल में बोले PM मोदी- नामदारों की वजह से हुआ 1984 का सिख दंगा

Punjab CM Captain Amarinder Singh on Sam Pitroda’s remark on ’84 riots: I have said it already, I don’t accept that statement. It’s duty of the successive governments to find out how it happened, who all were responsible, it must be found,doesn’t matter how many years have passed pic.twitter.com/9YQqPC4eAY— ANI (@ANI) May 10, 2019

हम इस बयान से इत्तेफाक नहीं रखते: सिंघवी
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने भी सैम पित्रोदा के इस विवादित बयान से किनारा कर लिया है। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि मैं सैम पित्रोदा के बयान से बिल्कुल भी इत्तेफाक नहीं रखता हूं। 1984 दंगा पीड़ितों को अब तक इंसाफ नहीं मिल सका है। अब जो हुआ सो हुआ उसे भूल जाओ कहना दंगा पीड़ितों के जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा होगा। इसके साथ ही सिंघवी ने नसीहत भरे कल को आप गोधरा पीड़ितों के लिए भी यही कहेंगे?
आतिशी के आरोप पर गंभीर का पलटवार, आरोप सही हुआ तो वापस ले लूंगा उम्मीदवारी
मोदी कांग्रेस पर बोला हमला
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कांग्रेस नेता सैम के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने यहां हरियाणा में एक चुनावी सभा में कहा कि कल, कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि 1984 दंगा ‘हुआ तो हुआ’। यह तीन शब्द कांग्रेस के अहंकार को दर्शाते हैं। यह नेता गांधी परिवार के करीबी हैं, दिवंगत राजीव गांधी के अच्छा दोस्त थे और राहुल गांधी के गुरु हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल छिड़ककर सैकड़ों सिखों को जला दिया गया और कांग्रेस कहती है कि ‘हुआ तो हुआ’।
सैम पित्रोदा ने क्या कहा था?
बता दें कि कांग्रेस ओवरसीज के चेयरमैन सैम पित्रोदा ने गुरुवार को कहा था,’ मैं इसके बारे में नहीं सोचता, यह भी एक और झूठ है. 1984 की बारे में अब क्या? आपने पिछले 5 साल में क्या किया। 84 में हुआ तो हुआ. आपने क्या किया?’
Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..