सुब्रमण्‍यम स्वामी ने कहा- ‘राम मंदिर की जमीन पर समझौता संभव नहीं’

नई दिल्‍ली। आज अयोध्‍या में राम जन्‍मभूमि बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर सुनवाई के दौरान सीजेआई रंजन गोगोई ने मध्‍यस्‍थता के जरिए विवाद को सुलझाने पर जोर दिया। शीर्ष अदालत के इस रुख पर भाजपा नेता और राज्‍यसभा सांसद सुब्रमण्‍यम स्वामी ने कहा है कि राम मंदिर की जमीन पर कोई समझौता संभव नहीं है। मध्‍यस्‍थता के जरिए इस विवाद की उम्‍मीद बहुत कम है। उन्‍होंने कहा कि अयोध्‍या में भूमि विवाद मामले को मध्यस्थता के लिए भेजा जाए या नहीं इस पर सुप्रीम कोर्ट को फैसला करना है।
भावनाओं से भी जुड़ा है मसला इस मामले में सुनवाई शुरू होने के बाद जस्टिस बोबड़े ने कहा है कि हम पहले की घटनाओं को नहीं बदल सकते। साथ ही कहा कि ये मामला सिर्फ जमीन से नहीं जुड़ा है बल्कि लोगों की भावनाओं से भी जुड़ा हुआ है।
मध्‍यस्‍थता से निकले समाधान बता दें कि 26 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह अगली सुनवाई में यह फैसला करेंगे कि इस मामले को मध्यस्थता के लिए भेजा जाए या नहीं। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने सुझाव दिया था कि दोनों पक्षकार बातचीत का रास्ता निकालने पर विचार करें। अगर बातचीत की थोड़ी बहुत गुंजाइश भी है तो उसका प्रयास होना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दोनों पक्ष इस मामले में अदालत को अपने विचार से अवगत कराए।

Subramanian Swamy: Mediation in Ayodhya Ram Janmabhoomi-Babri Masjid land dispute case is a sterile exercise. pic.twitter.com/BWG1FMUuWN— ANI (@ANI) March 6, 2019