सीट शेयरिंग पर जेडीएस और कांग्रेस की बैठक, देवेगौड़ा ने मांगी 10 सीटें, राहुल गांधी पर छोड़ा अंतिम फैसला

नई दिल्ली। अगामी लोकसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है। सभी पार्टियां गठबंधन और जोर-तोड़ की राजनीति में लगी हुई हैं। इसी कड़ी में कर्नाटक में शीट शेयरिंग को लेकर जेडीएस और कांग्रेस की बैठक हुई। बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, जेडीएस प्रमुख एचडी देवेगौड़ा समेत कुछ वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। बैठक में सीट शेयरिंग को लेकर काफी देर तक दोनों पार्टियों के बीच मंथन हुआ। बैठक के बाद देवेगौड़ा ने कहा कि कर्नाटक में हमने कांग्रेस से 10 सीटें मांगी है।
जेडीएस ने की दस सीटों की डिमांड
देवेगौड़ा ने कहा कि कर्नाटक में कुल 28 लोकसभा सीटें हैं। इसमें जेडीएस दस सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अंतिम फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, केसी वेणुगोपाल और जेडीएस प्रवक्ता दानिश अली मिलकर करेंगे। देवेगौड़ा के इस बयान से साफ स्पष्ट है कि जेडीएस को लोकसभा चुनाव में दस सीटें चाहिए। अब देखना यह है कि राहुल गांधी इस पर क्या फैसला लेते हैं? आपको बता दें कि कांग्रेस-जेडीएस के नेताओं का दावा है कि कर्नाटक में दोनों पार्टियां मिल कर चुनाव लड़ती हैं, तो कम से कम 20 सीटें जीत सकते हैं।
 

JDS leader and former Prime Minister HD Deve Gowda after his meeting with Rahul Gandhi over seat-sharing in Karnataka for LS polls: There are 28 seats in all. I have clinched 10 seats. Final decision will be taken after Rahul Gandhi discusses it with KC Venugopal and Danish Ali. pic.twitter.com/v1ApEuGr6w— ANI (@ANI) March 6, 2019

कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस की सरकार
गौरतलब है कि वर्तमान में कांग्रेस और जेडीएस मिलकर कर्नाटक में सरकार चला रहे हैं। हालांकि, कई बार कर्नाटक में सरकार गिरने की नौबत आई लेकिन दोनों पार्टियों ने मिलकर किसी तरह सत्ता को बचा लिया। इतना ही नहीं बीच-बीच में कांग्रेस विधायक और जेडीएस विधायक कई बार आपस में उलझे। विधायक खरीद-बिक्री का भी मामला सामने आया, इसके बावजूद दोनों पार्टियां मिलकर सरकार चला रही हैं। बहरहाल, अब देखना यह है कि लोकसभा चुनाव में क्या परिणाम सामने आते हैं।