शिवसेना का बड़ा बयान: देश को दुश्मन के नुकसान के बारे में जानने का हक, नहीं होगा सेना का मनोबल कम

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक किया। इस एयर स्ट्राइक में कई आतंकी ठिकानों को सरकार ने ध्वस्त करने का दावा किया है। इस हमले में करीब तीन सौ आतंकी के मारे जाने की खबर है। हालांकि, केन्द्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि अनुमान लगाया जा रहा है कि करीब 250 आतंकी मारे गए हैं। इसी बीच शिवसेना ने एयर स्ट्राइक को लेकर बड़ा बयान दिया है।
शिवसेना ने भाजपा से किया सवाल
शिवसेना ने भाजपा से सवाल किया है कि जैश-ए-मोहम्मद के शिविर पर हुए हवाई हमले में मारे गए आतंकियों के बारे में जानने का अधिकार है। शिवसेना ने कहा कि इस तरह की सूचना देने से सुरक्षा बलों का मनोबल कम नहीं होगा। शिवसेना ने अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा पर तंज कसते हुए अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा कि हवाई हमले पर चर्चा आगामी लोकसभा चुनावों तक चलती रहेगी। शिवसेना के इस बयान ने भाजपा की टेंशन बढ़ा दी है। हालांकि, भाजपा की ओर से अब तक इस पर कोई बयान नहीं आया है।
26 फरवरी को हुआ था एयर स्ट्राइक
गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना के विमानों ने 26 फरवरी को पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर बम गिराए थे। यह कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के पुलावामा जिले में आतंकवादी संगठन द्वारा किए गए हमले के जवाब में हुई थी। केन्द्र सरकार की इस कार्रवाई पर देश में जमकर राजनीति शुरू हो गई है। विपक्ष लगातार सरकार को आंकड़ा जारी करने के लिए दबाव बना रही है। यहां आपको यह भी बता दें कि वायुसेना प्रमुख ने सोमवार को कहा था कि हमारा काम केवल टारगेट को उड़ाना होता है, न कि आंकड़ा बताने का काम हमारा है।