विधानसभा चुनाव नतीजे: आंध्र में ‘जगन’ जीते, ओडिशा में फिर ‘नवीन’ सरकार

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों के साथ देश के चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों के रुझान भी आ रहे हैं। जिन चार राज्यों में चुनाव हुए उनमें आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम का नाम शामिल है। 175 विधानसभा सीटों वाले आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी के रुप में एक नये नेता उदय हुआ है, जगन की वाईएसआर कांग्रेस 5 सीटें जीती, 139 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी 30 सीटों पर आगे चल रही है। जेएसपी एक सीट पर आगे चल रही है। वहीं बीजेपी राज्य में अपना खाता भी नहीं खोल सकी है।
मोदी को जीत की बधाई दी, आंध्र में सरकार बदलेगी मांग नहीं
संभावित जीत के बाद आंध्र प्रदेश के संभावित सीएम जगन मोहन रेड्डी ने आम चुनाव में भाजपा की शानदार सफलता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी। उन्होंने दोहराया कि आंध्र प्रदेश के विशेष दर्जे के लिए उनकी लड़ाई जारी रहेगी। वही इस जीत के बाद वाईएसआरसीपी के नेता उम्मारेड्डी वेंकटेश्वरलु ने कहा कि लोगों ने राज्य का नेतृत्व करने के लिए जगनमोहन रेड्डी पर भरोसा जताया है, एन चंद्रबाबू नायडू द्वारा राज्य में की गई लूट को देखते हुए, जनता नहीं चाहती कि वह राज्य पर शासन करे। वाईएस जगनमोहन रेड्डी 30 मई को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे।
बीजेडी 109 सीटों के साथ सरकार बनाने की ओर अग्रसर
ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक अपने किले को बचाने में कामयाब रहे हैं, जहां लोकसभा सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है। वहीं विधानसभा चुनाव में बीजेडी 109 सीटों के साथ बहुमत की सरकार बनाने की ओर अग्रसर है। वहीं भाजपा 24 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर है, कांग्रेस 12 सीटों पर आगे चल रही हैं। सीपीआई एक सीट पर आगे चल रही है।
अरुणाचल में 16 सीटों पर बीजेपी जीते, 13 सीटों पर आगे
60 विधानसभा सीटों वाले अरुणाचल प्रदेश में अभी 32 सीटों पर रुझान आए हैं। भाजपा 16 सीटों पर जीत गई है, और 13 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं जेडीयू 4 सीटें जीत गई है और 1 पर आगे चल रही है। कांग्रेस 3 सीट जीत गई है। वहीं जेडीएस एक सीट पर आगे है। एनपीपी दो सीटों पर आगे चल रही है।
सिक्सिम में एसकेएम 10 सीटों पर जीती, 2 पर आगे
वहीं 32 सीटों वाले पूर्वोत्तर के सिक्किम की 24 सीटों पर अभी रुझान आए हैं। एसकेएम 10 सीटों पर जीत गई है, 2 सीटों पर आगे चल रही है। वही एसडीएफ 7 सीटें जीत चुकी है और 5 सीटों पर आगे चल रही है।