लोकसभा चुनाव: मुर्शिदाबाद में मतदान को लेकर दो पक्षों में मारपीट, टीएमसी के 3 कार्यकर्ता घायल

नई दिल्‍ली। प. बंगाल के मुर्शिदाबाद में मतदान शुरू होने के कुछ देर बाद दो पक्षों में झड़प होने की सूचना है। जानकारी के मुताबिक वार्ड नंबर 7 में फर्जी मतदान को लेकर दो पक्षों के बीच मारपीट हुई है। इस घटना में टीएमसी के 3 कार्यकर्ता घायल हुए हैं। स्थिति मौके पर तैनात सुरक्षा बलों और पुलिसकर्मियों के नियंत्रण में है। बता दें कि मुर्शिदाबाद में अन्‍य क्षेत्रों की तरह सुबह सात बजे से ही मतदान जारी है। इस सीट को सियासी नजरिए से लेफ्ट का सबसे मजबूत किला माना जाता है।
वोट डालने के बाद पीएम मोदी ने की मतदाताओं से अपील, आतंक के IED को VID से दें करारा जवाब
सुरक्षा का सख्‍त पहरा
इस सीट पर शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्‍न कराने के लिए चुनाव आयोग ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। मतदान को लेकर सुबह से ही लोगों में उत्साह है। इस संसदीय क्षेत्र के संवेदनशील बूथों पर काफी संख्‍या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। इस सीट पर लेफ्ट, टीएमसी, भाजपा, कांग्रेस सहित अन्‍य दलों के 11 प्रत्‍याशी चुनावी मैदान में हैं।
 कांटे की टक्‍कर
मुर्शिदाबाद संसदीय क्षेत्र प. बंगाल में लेफ्ट का वो किला है जिसने 2014 में मोदी लहर के बावजूद इस सीट पर पार्टी को लाल सलाम कहने की बड़ी वजह दी थी। इस बार मुर्शिदाबाद सीट पर लेफ्ट और टीएमसी के बीच कांटे की टक्‍कर है। भाजपा नेताओं ने भी लेफ्ट के कब्‍जे से इस सीट को छीनने की पूरी ताकत झोंक रखी है। भाजपा के धमाकेदार प्रचार और जनसंपर्क की वजह से यहां पर त्रिकोणीय मुकाबला है।
लोकसभा चुनाव 2019: क्या 2014 से अलग होगा इस बार चुनाव का परिणाम?
मोदी लहर में भी यहां से लेफ्ट को मिली थी जीत
इस सीट पर सीपीएम ने एक बार फिर से बदरुद्दोजा खान को टिकट दिया है। बदरुद्दोजा खान वर्तमान में इस सीट से सांसद भी हैं। उन्‍होंने मोदी लहर में भी इस सीट पर भाजपा को करारी शिकस्‍त दी थी। टीएमसी ने अबू तहेर खान, कांग्रेस ने अबू हेना और भाजपा की ओर से हूमायूं कबीर चुनाव लड़ रही है। बसपा ने यहां से मिजानुल हक को टिकट दिया है।
लोकसभा चुनाव 2019: तीसरा चरण भाजपा के लिए क्यों है सबसे ज्यादा अहम?