लोकसभा चुनाव: मंद हुई लालटेन की ‘लौ’, तीन दिग्गज नेताओं और कई कार्यकर्ताओं का RJD से इस्तीफा

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए गुरुवार को पहले चरण के लिए वोट डाले जाएंगे। लेकिन, बिहार की राजनीति में बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। खासकर, महागठबंधन में ‘रार’ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। सुबह यह खबर थी कि कांग्रेस नेता शकील अहमद निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं, अब खबर यह है कि राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के तीन दिग्गज नेताओं समेत कई कार्यकर्ताओं ने पार्टी से अचानक इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने वालों में पूर्व सांसद मंगनीलाल मंडल का भी नाम शामिल है।
पूर्व सांसद मंगनीलाल मंडल का RJD से इस्तीफा
जानकारी के मुताबिक, बुधवार को पूर्व सांसद मंगनीलाल मंडल, रामबदन राय, गोपाल मंडल समेत कई कार्यकर्ताओं ने आरजेडी से इस्तीफा दे दिया है। ये सभी टिकट नहीं मिलने से नाराज थे। पार्टी से इस्तीफा देने के बाद पूर्व सांसद और आरजेडी के कद्दावर नेता मंगनीलाल मंडल ने कहा कि बड़े और पुराने नेताओं का राजद ने टिकट काट दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी ने टिकट बेचने में भारी गड़बड़ी की है। उन्होंने आरजेडी पर निशाना साधते हुए कहा कि झंझारपुर लोकसभा सीट से जिसे टिकट दिया गया है, वह गलत प्रत्याशी (गुलाब यादव) है। गुलाब यादव पर हमला बोलते हुए मंगनीलाल मंडल ने कहा कि गुलाब यादव पढ़े-लिखे नहीं हैं और उनकी प्रवृति भी सही नहीं है। गौरतलब है कि मंगनीलाल मंडल पिछली बार झंझारपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे। वहीं, मंगनीलाल ने बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने अतिपिछड़ा को टिकट देकर अच्छा किया है। देखना यह होगा कि मंगनीलाल मंडल जेडीयू का दामन थामते हैं या फिर कुछ और रणनीति बनाते हैं।
मधुबनी में भी बगावत!
यहां आपको बताते चलें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शकील अहमद का भी टिकट काट दिया गया है। महागठबंधन ने मधुबनी लोकसभा सीट विकासशील इंसान पार्टी (VIP) को दिया है। वीआईपी ने बद्री पूर्वे को यहां से अपना उम्मीदवार घोषित किया है। ऐसे में मिथिला की राजनीति धीरे-धीरे अलग रंग रूप धारण करती जा रही है।