राहुल गांधी Exclusive: लोकसभा चुनाव जीतने पर रहेगा कांग्रेस का दबदबा, दूसरी पार्टियों को भी लेंगे साथ

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनाव (Loksabh Election) इस बार कई मायनों में खास है। कांग्रेस (CONGRESS) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लिए यह नाक की लड़ाई बन चुका है। दोनों ही पार्टियों ने दिल्ली की सत्ता के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। लेकिन, विपक्ष को लेकर सबके मन में एक ही सवाल है कि कौन चेहरा होगा और किसकी हुकूमत चलेगी? कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का साफ कहना है कि कांग्रेस मुख्य विपक्ष है और लोकसभा चुनाव में पार्टी जीतती है तो उसी का दबदबा होगा।
पढ़ें- लोकसभा चुनाव की आधी जंग खत्म, राहुल गांधी ने कहा- पिछले चुनाव से बेहतर स्थिति में कांग्रेस
सभी पार्टियों को साथ लेकर चलेगी कांग्रेस- राहुल गांधी
पत्रिका समूह के डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन के साथ बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी है। यदि भाजपा चुनाव हारती है और कांग्रेस की जीत होती है, तो दबदबा हमारा रहेगा। उन्होंने कहा कि यह विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ भाजपा है, और दूसरी तरफ कांग्रेस। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता का केंद्रीकरण करना चाहती है। वे एक व्यक्ति को हिंदुस्तान की पूरी शक्ति देना चाहते हैं, जबकि कांग्रेस जनता को शक्ति देना चाहती है। पिछले 5 साल पीएमओ ने देश को चलाया है और हिंदुस्तान के 15-20 भ्रष्ट लोगों की सीधे मदद की है। राहुल गांधी ने कहा कि हम दूसरी पार्टियों को भी साथ लेकर चलेंगे।
पढ़ें- देश में कांग्रेस की सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त राहुल गांधी, बताया 5 साल सरकार चलाने का फॉर्मूला
पूरा विपक्ष एकजुट है- कांग्रेस
जब राहुल गांधी से पूछा गया कि ऐसा सोचा गया था विपक्ष एकजुट हो जाएगा, पर ऐसा नहीं लग रहा है कि धीरे-धीरे बिखराव आता गया। इस पर राहुल गांधी ने कहा कि कहां बिखराव है? तमिलनाडु में गठबंधन, महाराष्ट्र में गठबंधन, बिहार में गठबंधन, झारखंड में गठबंधन और जम्मू-कश्मीर में हमारा गठबंधन है। आंध्र प्रदेश में नायडू जी के साथ हमारा सहयोग है, बड़े आत्मीय संबंध हैं। हमारी तरफ से कोई समस्या नहीं है। अब उत्तर प्रदेश में बसपा और सपा ने निर्णय लिया, तो ठीक है। कांग्रेस पार्टी अपनी जगह बनाएगी। चाहे वह उत्तर प्रदेश हो या पश्चिम बंगाल हो, सेक्यूलर पार्टियां ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतें तो सबके लिए अच्छा है। राहुल गांधी का कहना है कि हम सबको साथ लेकर चलते हैं और सबको समान अधिकार भी देते हैं।
पढ़ें- AAP से गठबंधन नहीं होने पर बोले राहुल गांधी, बार-बार रंग बदलने लगे केजरीवाल