राहुल गांधी Exclusive: आज आर्थिक आपातकाल की स्थिति में है हिन्दुस्तान, ‘न्याय’ से बदलेंगे हालात

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर देश का सियासी माहौल गर्माया हुआ है। सियासी दल दिल्ली की सत्ता में काबिज होने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते। कांग्रेस और भाजपा समेत सभी दल अपने—अपने दावों और घोषणापत्र के माध्यम से देश की जनता को भविष्य के सपने दिखा रहे हैं। कुछ ऐसे ही दावों की पड़ताल करने के लिए पत्रिता समूह के डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से बातचीत की। इस दौरान राहुल गांधी ने न केवल मोदी सरकार की खामियां गिनाईं, बल्कि कांग्रेस के एजेंडे पर बेबाकी से अपनी राय भी रखी।
लोकसभा चुनाव 2019: राहुल गांधी के लिए बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा, खेती और भ्रष्टाचार से निपटने का बताया प्लान
हिन्दुस्तान में आर्थिक आपातकाल की स्थिति
राहुल गांधी ने कहा कि आज हिन्दुस्तान आर्थिक आपातकाल की स्थिति में है। 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज है। 27 हजार युवा हर घंटे रोजगार खोते हैं। नोटबंदी और जीएसटी ने व्यापार की धज्जियां उड़ा दी। अब अनिल अंबानी और नीरव मोदी नहीं, छोटे उद्योग ही हिन्दुस्तान को रोजगार दे सकते हैं। न्याय योजना के दो लक्ष्य हैं। उन्होंने कहा कि एक, हिन्दुस्तान के सबसे गरीब लोगों के बैंक खातों में पैसा डालना, दूसरा लक्ष्य भी उतना ही जरूरी है और वह है- नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स के कारण जनता की जेब से निकले पैसे को दुबारा अर्थव्यवस्था में लाना। यानी अर्थव्यवस्था को रिमोनेटाइज करना। जीएसटी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि नरेन्द्र मोदीजी ने नोटबंदी की और गब्बर सिंह टैक्स लागू किया तो लोगों की जेब से पैसा निकाला। लोगों ने माल खरीदना बंद कर दिया।
फैक्ट्रियों ने माल बनाना बंद कर दिया
राहुल ने कहा कि लोगों ने माल खरीदना बंद किया, फैक्ट्रियों ने माल बनाना बंद कर दिया। बेरोजगारी शुरू हो गई। अब हम रिमोनेटाइज करेंगे और पैसा सीधा बैंक खातों में डालेंगे। जैसे ही हम ये पैसा डालेंगे लोग माल खरीदना शुरू करेंगे। लोगों की खरीदने की शक्ति बढ़ेगी और दुकानों में माल की बिक्री बढ़ जाएगी। मांग बढ़ेगी तो फैक्ट्रियां माल बनाना शुरू करेंगी। पैंट, शर्ट, जीन्स, जूता और घड़ियों जैसे माल का निर्माण यहीं होगा और युवाओं को रोजगार मिलना शुरू हो जाएगा। तो ये एक प्रकार से अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने का तरीका है। बातचीत में कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि हम इस बात को मानते हैं कि नरेंद्र मोदी ने हिन्दुस्तान की अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ा दी है। आर्थिक आपातकाल की आज वैसी ही स्थिति है, जैसी 1991से पहले थी। तब वीपी सिंहजी ने भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया था और हम आज उसी स्थिति में हैं। हम आज अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए आपातकालीन उपाय अपना रहे हैं।
न्याय योजना का पैसा जनता की जेब से नहीं निकलेगा
उन्होंने कहा कि ये ऐसे उपाय हैं जिन्हें कांग्रेस पार्टी और दुनिया के शीर्ष अर्थशास्त्रियों ने मिल कर बनाया है। न्याय योजना पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि वह मिडल क्लास को बताना चाहते हैं कि इस बात की गारंटी है कि एक रुपया न्याय योजना का आपकी जेब से नहीं निकलेगा। पिछले पांच सालों में नरेंद्र मोदी ने 15-20 अमीर लोगों का 5 लाख 55 हजार करोड़ रुपया माफ कर उनको फ्री गिफ्ट दिया है। नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या, अनिल अंबानी और ललित मोदी की जेब से यह सारा पैसा निकलेगा।