राहुल गांधी का तंज- दोनों देशों के तनाव के बीच प्रचार-प्रसार में लगे हैं मोदी, छात्रों का यूं बढ़ाया हौंसला

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज से बोर्ड परीक्षा में बैठ रहे विद्यार्थियों को शुभसंदेश देते हुए, तनाव न लेने की सलाह दी। वहीं, दूसरी ओर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना भी साधा है। उनका कहना है कि पुलवामा हमले के बाद देशभर में चल रहे माहौल में एकजुटता का दावा करने के बावजुद पीएम ने लगातार उनपर और उनकी पार्टी पर निशाना साधा है।
फेसबुक पोस्ट में दिया शुभसंदेश
शनिवार को राहुल गांधी ने एक फेसबुक पोस्ट में छात्रों का उत्साहवर्धन करते हुए लिखा, आज से बोर्ड की परीक्षा शुरू हो रही है। आप काबिल हैं। आप काफी हैं। आप तैयार हैं। तनाव बिल्कुल ना लें। दुनिया आपको चमकता हुआ देखने का इंतजार कर रही है। राहुल ने अपनी पोस्ट में आगे छात्रों की जीत पर भरोसा जताते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की शुभकामनाएं दीं।

महाराष्ट्र में पीएम मोदी पर साधा निशाना
वहीं, इससे पहले शुक्रवार को राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच जो स्थिति थी, उसमें पीएम ने एकजुटता की बात कही थी। लेकिन इसके बाद भी पीएम मोदी लगातार कांग्रेस समेत विपक्ष की आलोचना करते रहे। राहुल ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि किसी भी हालात में मोदी अपना प्रचार पांच मिनट तक के लिए भी नहीं छोड़ सकते। राहुल ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा इसी बात का फर्क है।
अनिल अंबानी और रफाल पर भी कटाक्ष
राहुल गांधी उत्तर महाराष्ट्र के धुले में एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। राहुल ने सभा में कहा कि एक ओर पीएम ने खुद 14 फरवरी के हमले के बाद पीएम मोदी ने पूरे देशवासियों को एकजुट होने की बात कही थी। लेकिन, इसके तुरंत बाद वो खुद ही विरोधी दलों पर टिप्पणी करने लगे। इस दौरान राहुल ने उद्योगपति अनिल अंबानी पर भी कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि अब तो वो कागज का विमान भी नहीं बना सकते। राहुल ने अंबानी के बहाने एक बार फिर रफाल की खरीददारी पर सवाल उठाया। उन्होंने मोदी की ओर से अंबानी को डील दिए जाने की आलोचना करते हुए कहा कि इसमें 30 हजार करोड़ रुपए अनिल अंबानी की जेब में गए हैं।
पीएम मोदी से की अपनी तुलना
राहुल ने लोगों के सामने अपनी और मोदी की तुलना करते हुए कहा,’मैंने 2004 में राजनीति में कदम रखा था। तब से लेकर अबतक ऐसा एक भी वादा बता दो जो हमने किया और पूरा नहीं किया। वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री की एक भी सच्ची बात बता दो जो उन्होंने कहा हो और उसे पूरा किया हो। उन्होंने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देने का वादा अभी तक अधूरा है। उन्होंने कहा कि मोदी की बातों में स्टार्ट अप इंडिया, मेक इन इंडिया जैसे दावें हैं, लेकिन, रोजगार नहीं है। इस वक्त भारत में बेरोजगारी का स्तर बीते 25 साल में सबसे अधिक है।