राष्ट्रपति कोविंद ने स्वीकारा मिजोरम के राज्यपाल का इस्तीफा, असम गवर्नर पर सौंपा अतिरिक्त प्रभार

नई दिल्ली। मिजोरम के राज्यपाल के. राजशेखरन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। शुक्रवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है। इस बारे में राष्ट्रपति भवन की ओर जानकारी दी गई है।
असम के राज्यपाल पर मिजोरम की जिम्मेदारी
राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने इस्तीफे को स्वीकार किए जाने के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि असम के राज्यपाल जगदीश मुखी राज्य का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे। उन्होंने बताया कि मिजोरम में किसी तरह की स्थायी प्रबंध होने तक मुखी ही राज्यपाल की अतिरिक्त जिम्मेदारी निभाएंगे।

President has accepted resignation of Kummanam Rajasekharan (in file pic) as Guv of Mizoram . Prof Jagdish Mukhi, Guv of Assam to discharge the functions of the Guv of Mizoram, in addition to his own duties, until regular arrangements for the office of the Guv of Mizoram is made. pic.twitter.com/nNErmMmyJ0— ANI (@ANI) March 8, 2019

सीआरपीएफ के शहीद जवानों को दी थी श्रद्धांजलि
इससे पहले राजशेखरन ने आइजोल के राजभवन में सर्कुलर लॉन में सीआरपीएफ के शहीद को जवानो को श्रद्धांजलि दी थी। एक सादे समारोह में राज्यपाल ने उनके लिए प्रार्थना करते हुए कहा कि बहादुर सैनिक ऐसे योद्धा थे जिन्होंने देश और लोगों के लिए अपना जीवन दांव पर लगा दिया।
केरल की राजनीति में लौट सकते हैं राजशेखरन
आपको बता दें कि इस्तीफे के बाद राजशेखरन के केरल की राजनीति में लौटने के संकेत मिल रहे हैं। गौरतलब है कि राजशेखरन बीते साल 2018 के मई में अपना पद संभाला था। राष्ट्रपति ने ओडिशा के राज्यपाल प्रोफेसर गणेशी लाल के साथ उनकी नियुक्ति की थी। उस वक्त राजशेखरन केरल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष थे।