रामगोपाल यादव: बड़ी साजिश का नतीजा था पुलवामा हमला, वोट के लिए दी गई जवानों की बलि

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने मोदी सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि अगर पुलवामा हादसे की जांच हुई तो कई बड़े नाम फंस सकते हैं। पुलवामा हमले पर सराकर की भूमिका पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि महज चुनाव जीतने के लिए सरकार ने 40 जवानों की बलि ले ली। रामगोपाल यादव ने कहा कि सरकार की संदिग्ध भूमिका इस काम से जाहिर होती है कि जम्मू-श्रीनगर के बीच चेकिंग पोस्ट नहीं लगाई गई। यही नहीं, जवानों को बुलेट प्रूफ गाड़ी में भेजने की बजाय एक साधारण सी बस में बिठा दिया गया। उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली में सरकार बदली इस साजिश की जांच कराई जाएगी।
पुलवामा की आड़ में सरकार पर निशाना पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुआ हमला का मुद्दा एक बार फिर चर्चा के केंद्र में आ गया है। सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए आतंकी हमले को केंद्र की साजिश बताया। सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने वोट के लिए जवानों को मरवा दिया। रामगोपाल सरकार पर इस कदर हमलावर थे कि उन्होंने सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दी। कहा कि सरकार बदलने पर पुलवामा हादसे की जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि कई बड़े लोग इसमें फंस सकते हैं। होली मिलन कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा कि पैरामिलिट्री बल सरकार से दुखी हैं।
पुलवामा हमले पर घिरी सरकार
कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी भी पुलवामा हमले को लेकर सरकार को घेर चुकी हैं। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ जवानों की बस पर एक कार ने टक्कर मारी थी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। बीते सप्ताह वेस्ट बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर जवानों के शहादत से राजनीति करने का आरोप लगाया था।