रफाल डीलः पीएम पर राहुल फिर हमलावर, कागज गायब हुए हैं यानी कांग्रेस के आरोप सच्चे, जांच का डर क्यों

नई दिल्ली। केंद्र की ओर से अदालत को रफाल से संबंधित दस्तावेज चोरी होने की बात कहने के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ फिर मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर केंद्र सरकार पर बड़े आरोप लगाए।
राहुल ने कहा कि अगर ये कागज गायब हुए हैं तो आरोप सच्चे हैं। ऐसे में पीएम मोदी को जांच का डर क्यों है? सरकार का सिर्फ एक काम है कि ‘चौकीदार’ को बचाकर रखना। कागज में साफ लिखा है कि पीएमओ दखल दे रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि फ्रांस ने साफ कर दिया कि पीएम मोदी के कहने पर ही अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट दिया गया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जिनका नाम कागज में है, उन पर कार्रवाई करनी चाहिए।
कांग्रेस ने साबित किया कि बड़ा घोटाला हुआ
राहुल गांधी ने कहा कि पहले सभी कह रहे थे कि रफाल में कुछ नहीं है, लेकिन बाद में कांग्रेस ने साबित किया कि इसमें बड़ा घोटाला हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष ने एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि यह साबित करती है कि रफाल डील में घोटाला हुआ है और खुद पीएम इसमे शामिल हैं। प्रधानमंत्री को खुद आगे आकर इस मामले की करानी चाहिए।

Congress President Rahul Gandhi: I won’t talk much about it (evidence of IAF strikes), but yes I read that families of some of the CRPF personnel who were martyred have raised this issue, they are saying we were hurt so please show us what happened. pic.twitter.com/5FLwDAdu0N— ANI (@ANI) March 7, 2019

उन्होंने कहा कि इस मामले में शामिल प्रधानमंत्री पर भी कार्रवाई की जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने रात में सीबीआई चीफ को हटा दिया, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने उनको फटकार लगाई। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अनिल अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ रुपये डाल दिए। रफाल डील में पीएम मोदी ने बाईपास सर्जरी की। सरकार का काम मानों जैसे फाइलें गायब करना ही रह गया है। इस सरकार के राज में रोजगार-किसानों के मुद्दे के साथ रफाल जैसी फाइलें भी गुम हो गई हैं।
2 करोड़ युवाओं को रोजगार गायब
कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि अब एक नई लाइन निकली है “गायब हो गया”, देश से 2 करोड़ युवाओं को रोजगार गायब हो गया, किसानों की फसलों का उचित दाम गायब हो गया, जीएसटी से व्यापारियों का फायदा गायब हो गया और अब रफाल जैसी महत्वपूर्ण डील की फाइलें भी गायब हो गईं।
एयर स्ट्राइक पर मांगे सबूत
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों के सबूत को लेकर भी हमला बोला गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए राहुल ने कहा कि ‘मैं इसके बारे में ज्यादा बात नहीं करूंगा, लेकिन हां मैंने पढ़ा है कि शहीद हुए कुछ सीआरपीएफ जवानों के परिजनों ने इस मुद्दे को उठाया है। उन्होंने एयर स्ट्राइक को लेकर सरकार से पूरी जानकारी मांगी है।
राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस की 10 बड़ी बातेंः

अगर रफाल डील से जुड़े दस्तावेज गायब हुए हैं, इसका मतलब ये दस्तावेज सच्चे हैं
दस्तावेज में साफ लिखा है कि रफाल डील को लेकर नरेंद्र मोदी खुद निगोसिएशन कर रहे थे
दस्तावेजों में साफ लिखा है कि ये डील दाम बढ़ाकर की गई
कागजों में जिनका नाम है उन पर कार्रवाई होनी चाहिए
इस डील में साफ-साफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम आ रहा है
अगर पीएम मोदी निर्दोष हैं तो जांच से क्यों डर रहे हैं
सरकार का सिर्फ एक काम है कि ‘चौकीदार’ को बचाकर रखना है
प्रधानमंत्री के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं होती?
प्रधानमंत्री ने 30 हजार करोड़ रुपये अंबानी की जेब में डाले
अनिल अंबानी को पैसे देने की वजह से हुई रफाल आने में देरी