योगी आदित्यनाथ पर चला फिर चुनाव आयोग का डंडा,  ‘अली-बजरंगबली’ वाले बयान पर मांगा जवाब

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath ) के विवादित बयानों का सिलसिला थमा नहीं है। ‘मोदी जी की सेना’ वाले बयान के बाद चुनाव आयोग ( Election Commission ) ने योगी को ‘अली-बजरंगबली’ वाले बयान पर भी सख्ती दिखाई है। लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Election 2019 ) के पहले चरण की वोटिंग खत्म होने के बाद आयोग ने योगी को एक और कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग ने योगी से 24 घंटे के भीतर बयान पर सफाई मांगी है।
सोनिया गांधी पर बेटे राहुल का 5 लाख कर्ज, इटली में 7 है करोड़ से ज्यादा की संपत्तियोगी ने कहा क्या था?
10 अप्रैल को योगी मेरठ लोकसभा के गांव सिसौली में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मायावती के सहारनपुर की रैली का जिक्र करते योगी ने सीधे हिन्दुत्व का कार्ड खेला। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सपा और बसपा को ‘अली’ पर विश्वास है तो हमें भी बजरंगबली पर विश्वास है। कांग्रेस, सपा, बसपा और लोकदल के लोग मान चुके हैं कि बजरंगबली के अनुयायी कभी उन्हें बर्दास्त नहीं करेंगे।
‘मोदीजी की सेना’ पर भी घिरे थे योगी
इससे पहले गाजियाबाद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए भी योगी ने अपने भाषण से आचार संहिता का उल्लंघन किया था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे और ‘मोदीजी की सेना’ उन्हें सिर्फ गोली और गोला देती है। आयोग ने इस बयान पर योगी का आचार संहिता तोड़ने का दोषी पाया था और नोटिस जारी किया था।
Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App