येदि की डायरी: ऑडियो क्लिप की फॉरेंसिक जांच में भी येदियुरप्पा और अनंत कुमार की आवाज की हो चुकी है पुष्टि

नई दिल्ली। कांग्रेस ने बीजेपी नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। कांग्रेस का आरोप है कि येदियुरप्पा ने 1800 करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार किया है। वहीं, 2017 में फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) की रिपोर्ट में भी ‘पे ऑफ’ केस लीक की बातें की गई थी।
यह भी पढ़ें-येदि की डायरी- 1800 करोड़ का हिसाब, राजनाथ-जेटली समेत भाजपा नेताओं को करोड़ों बांटे
एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से अक्टूबर 2017 में छपी खबर की मानें तो एफएसएल को इस घोटाले से जुड़े ऑडियो क्लिप में आवाज के नमूने मिले थे। जिसमें भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को किए गए कथित भुगतानों पर चर्चा की जा रही थी। यह नमूने कथित रूप से पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं, येदियुरप्पा और अनंत कुमार के साथ मेल खाते थे। एफएसएल की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि प्रश्न और नमूने की रिकॉर्डिंग से चुने गए शब्दों में स्वरों की मौलिक आवृत्ति में समानताएं पाई गई थीं।
जिसके बाद केपीसीसी लीगल सेल के चेयरमैन सीएम धनंजय की ओर से इस मामले में साइबर क्राइम सेल में शिकायत की गई थी। शिकायत के बाद साइबर सेल ने जांच की। वहीं, केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने इस पर पलटवार करते हुए सीएम सिद्धारमैया का समर्थन किया। अनंत कुमार ने लीक ऑडियो क्लिप के जरिए लग रहे आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि मैं सिद्धारमैया और उनके सहयोगियों के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से लगाए गए सभी मामलों को गिनना चाहता हूं। जिसमें कांग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी हाईकमान को पैसे की अदायगी की गई है।
वहीं, जब अनंत कुमार से फॉरेंसिक रिपोर्ट के निष्कर्षों के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि जब कांग्रेस नेताओं की बात आती है तो यह फास्ट ट्रैक बंद हो जाता है। लेकिन जब येदियुरप्पा और अनंत कुमार की बात आती है तो यह तेजी से जांच पड़ताल करता है। हालांकि फॉरेंसिक रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि भाजपा की कार्यकारिणी की बैठक के दिन येदियुरप्पा और अनंत कुमार की ओर से दिए गए भाषण का कथित ऑडियो रिकॉर्ड किया गया था। किंतु उक्त सीडी में यह नहीं पाया गया था।
बता दें कि कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने शुक्रवार को एक ऑनलाइन मैगजीन कारवा के हवाले से येदियुरप्पा की डायरी के जरिए बड़ा खुलासा किया। सुरजेवाला ने भाजपा नेताओं को 1800 करोड़ रुपए के लेनदेन का आरोप लगाया है। सुरजेवाला ने कहा कि येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री रहने के दौरान यह डायरी 2017 से आयकर विभाग के पास थी और हर पेज पर येदियुरप्पा के हस्ताक्षर हैं। इसमें बीजेपी नेताओं को सौ करोड़ से लेकर दस करोड़ तक दिए जाने का हिसाब भी है। साथ ही जजों को ढाई सौ करोड़ दिए जाने का भी उल्लेख है।