मुंबई में बोले पीएम मोदी- इस बार 50 सीटों के नीचे ही निपट जाएगी कांग्रेस

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Election 2019 ) के लिए प्रचार अभियान अपने चरम पर है। तीन चरणों की वोटिंग के बाद राजीनीतिक पार्टियों की नजर चौथे चरण पर है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) ने NDA प्रत्याशियों के लिए वोट मांगने महाराष्ट्र के मुंबई ( mumbai ) पहुंचे हैं। पीएम ने यहां जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि जिन्होंने देश को लूटा है उन्हें लौटना ही पड़ेगा। बीते 5 वर्ष में हमने टैक्स नहीं बल्कि टैक्स देने वालों की संख्या बढ़ाई है।- 5 वर्ष में आपने अनुभव किया है कि भ्रष्टाचार की खबरें अखबार से गायब हो गई हैं। भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए कई कदम उठाए हैं जिससे कुछ लोग जेल पर हैं और कुछ लोग बेल पर हैं: मोदी
यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 में सितारों के सहारे पार्टियां, एंट्री करते ही मिलता है टिकट
– 2014 में जो चुनाव हुआ, उसमें आजादी के बाद हुए सभी चुनावों में कांग्रेस को सबसे कम सीटें मिली हैं। 2019 के चुनाव में कांग्रेस पार्टी सबसे कम सीटों पर लड़ रही है। यानी 2014 सबसे कम सीटें जीतने का रिकॉर्ड और 2019 सबसे कम सीटों पर लड़ने का रिकॉर्ड: मोदी
– कांग्रेस की पूरी राजनीति और रणनीति अतीत की यादों पर टिकी हुई है और इसलिए अब कांग्रेस कन्फ्यूजन का दूसरा नाम हो गई है: पीएम
यह भी पढ़ें: CJI रंजन गोगोई मामलाः आरोप लगाने वाली महिला जांच समिति के सामने पेश
– देश की सबसे पुरानी पार्टी, वो पार्टी जिसके बारे में महात्मा गांधी ने कहा था कि कांग्रेस को समाप्त कर देना चाहिए। उस पार्टी को लेकर देश में सारे सर्वे में ये चर्चा है की इस चुनाव में कांग्रेस 44 का आंकड़ां पार करके 50 पर पहुंचेगी या नीचे ही निपट जाएगी: पीएम
– आप जितने भी सर्वे देखेंगे, गांव-देहात हो या मुंबई जैसी मायानगरी। 2019 के चुनाव के नतीजों को लेकर सभी एकमत हैं कि भाजपा पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है। चर्चा इस बात पर हो रही है कि भाजपा 282 का आंकड़ा तोड़ पाएगी क्या: पीएम
यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव प्रचार में बोले गौतम गंभीर- कांग्रेस या AAP नहीं, मेरे वादे ही मेरे लिए चुनौती
– देश का यूथ 1947 की तरफ नहीं, 2047 की तरफ देखता है, जब भारत आजादी के 100 वर्ष मनाएगा। जिन दलों, जिन नेताओं की सोच पिछली सदी की है, वो 21वीं सदी के युवा की नब्ज नहीं समझ सकते: मोदी
– ये चुनाव सिर्फ एक सरकार चुनने के लिए नहीं है, ये भारत की दिशा तय करने का चुनाव है। ये विकल्प का चुनाव नहीं, संकल्प का चुनाव है। ये वादों का नहीं, ये इरादों का चुनाव है: मोदी
Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..