ममता बनर्जी ने झाड़ा खुद पर बन रहे बायोपिक से पल्ला, कहा- मैं मोदी नहीं हूं

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुद पर बन रहे बायोपिक पर बड़ा बयान जारी किया है। उन्होंने बुधवार को कहा कि उनका किसी भी बायोपिक से संबंध नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि वे उन्हें मानहानि का मुकदमा करने के लिए मजबूर न करें। सीएम बनर्जी ने इस बारे में ट्वीट किया।
बायोपिक से कोई लेना-देना नहीं
अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘यह किस तरह का बकवास फैलाया जा रहा है! मेरा किसी भी बायोपिक से कोई लेना-देना नहीं है।’ उन्होंने लोगों को चेतवानी देते हुए आगे लिखा, ‘कृपया मुझे इस झूठ फैलाने के कारण मानहानि का मुकदमा करने पर मजबूर न करें।’ आपको बता दें कि कुछ समय से चर्च चल रही है कि ममता पर बाघिनी नाम की एक बायोपिक बनाई जा रही है।
‘बाघिनी-बंगाल टाइग्रेस’ नाम की फिल्म चर्चा में
बंगाली फिल्म ‘बाघिनी-बंगाल टाइग्रेस’ एक ऐसी साधारण लड़की की कहानी है, जो अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ संघर्ष करते हुए राज्य की मुख्यमंत्री बनने तक का सफर तय करती है। यह कहानी बनर्जी की जिंदगी से मिलती-जुलती है। दरअसल, ममता बनर्जी ने भी पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा की सरकार के खिलाफ कड़ा संघर्ष किया था। उन्होंने वाम मोर्चा के 30 वर्षो के शासनकाल को उखाड़ कर 2011 में सत्ता हासिल की थी।
‘मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूं’
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बंगाल इकाई फिल्म के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची है। BJP ने चुनाव आयोग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बयोपिक की तर्ज पर इस बायोपिक की भी समीक्षा करने की मांग की है। हालांकि, इससे उलट बनर्जी ने बायोपिक से अपना संबंध होने से ही इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘अगर कुछ युवा लड़कों ने कुछ कहानियां इकट्ठी की और खुद को अभिव्यक्त किया तो यह उनका मामला है। यह मुझसे संबंधित नहीं है। मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूं।’