मतगणना को लेकर चुनाव आयोग से विपक्ष को बड़ा झटका, पहले VVPAT पर्चियों की गिनती की मांग खारिज

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले विपक्ष को चुनाव आयोग से बड़ा झटका लगा है। आयोग ने विपक्ष की मांग को सिरे से खारिज कर दी है। आयोग ने साफ कह दिया कि नियमों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। वीवीपैट की गिनती पहले नहीं की जाएगी। बता दें कि विपक्ष VVPAT की पर्चियों को पहले मिलान करने की मांग की थी।
ये भी पढ़ें: राबड़ी देवी ने चुनाव आयोग पर उठाए सवाल, भाजपा के साथ गठबंधन का लगाया आरोप

Election Commission rejects demands of opposition parties’ regarding VVPAT. More details awaited pic.twitter.com/zyxETDjWOE— ANI (@ANI) May 22, 2019

EVM और VVPAT को लेकर विपक्ष का प्रदर्शन
दरअसल EVM और VVPAT की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो रहे थे। विपक्ष के आरोपों पर आयोग ने बुधवार को बैठक बुलाई थी। मंगलवार को 22 विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग से मुलाकात कर वीवीपैट की पर्चियों को मिलान करने की मांग की थी। विपक्ष का आरोप है कि ईवीएम के साथ छेड़खानी और हेराफेरी की जा सकती है। वहीं EVM और VVPAT के मिलान को लेकर विपक्ष आज भी प्रदर्शन किया ।EVM में गड़बड़ी की आशंका
गौरतलब है कि आखिरी चरण के चुनाव संपन्न होने के बाद देशभर के कई हिस्सों से ईवीएम से जुड़ी खबरें आईं थीं। इसमें ईवीएम के साथ छेड़खानी, स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा पर सवाल खड़े किए गए थे। वहीं एग्जिट पोल के नतीजे में एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलने का पूर्वानुमान लगाया गया है। जबकि विपक्ष को बहुमत के आंकड़े से काफी दूर बताया गया है। इन सभी को आधार बनाकर विपक्षी दलों ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका ज़ाहिर की।
ये भी पढ़ें: विरोधियों पर जुबानी जंग से दूर धर्मेंद्र ने राजनीति में पेश की मिसाल, जाखड़ के लिए उमड़ा प्यार
विपक्षी दलों ने आयोग से की थी मुलाकात
मंगलवार को 22 विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग ने मिलकर ज्ञापन सौंपा था जिसमें वीवीपैट की पर्चियों से मिलान की मांग की। हालांकि आयोग ने इन तमाम आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था।