भाजपा ने नई दिल्ली से मीनाक्षी लेखी और पूर्वी दिल्ली से दिया गौतम गंभीर को टिकट, महेश गिरी का कटा पत्ता

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार देर रात दिल्ली की दो और लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी। इनमें हाल ही राजनीति की पिच पर उतरे टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को भाजपा ने पूर्वी दिल्ली से अपना उम्मीदवार बनाया है। जबकि इस सीट के मौजूदा सांसद महेश गिरी का पत्ता कट गया है। वहीं, तमाम उहापोह के बाद आखिरकार मीनाक्षी लेखी को पार्टी ने नई दिल्ली से दोबारा उम्मीदवार बनाया है।
दिलचस्प बात है कि तमाम अटकलों पर विराम लगाने के बाद गौतम गंभीर हाल ही में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। बताया जा रहा है कि गौतम गंभीर नई दिल्ली सीट से लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते थे, लेकिन मीनाक्षी लेखी यह सीट छोड़ने को तैयार नहीं हुईं। इसके बाद पार्टी ने सोमवार को गंभीर को पूर्वी दिल्ली से अपना उम्मीदवार बना दिया।
वो 10 राजनेता जो आजतक कोई भी लोकसभा चुनाव नहीं हारे
हालांकि दिलचस्प बात है कि भाजपा ने गौतम गंभीर की उम्मीदवारी के लिए पूर्वी दिल्ली से अपने सिटिंग एमपी महेश गिरी का पत्ता काट दिया है। 2014 लोकसभा चुनाव में महेश गिरी ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित को 90 हजार से ज्यादा वोटों से करारी शिकस्त दी थी। श्री श्री रविशंकर के शिष्य और आर्ट ऑफ लिविंग से जुड़े महेश गिरी आध्यात्मिक संगठन से जुड़े रहकर भी सामाजिक कार्यों में बढ़कर हिस्सा लेते रहे हैं।

24th list of BJP candidates for ensuing General Elections to the Parliamentary Constituencies of Delhi finalised by BJP CEC. pic.twitter.com/u8C9r0zkrn— BJP (@BJP4India) April 22, 2019

नई दिल्ली से पार्टी की प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी फायरब्रांड नेता मानी जाती हैं। पेशे से वकील लेखी ने 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के दिग्गज नेता अजय माकन को और आम आदमी पार्टी के अजय खेतान को करारी शिकस्त दी थी।
वहीं, भाजपा अभी भी दिल्ली की एक सीट पर अपना उम्मीदवार तय नहीं कर पाई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी उत्तर पश्चिम दिल्ली से मौजूदा सांसद उदित राज की जगह किसी अन्य को टिकट देना चाहती है। सोमवार को उत्तर-पश्चिम दिल्ली सीट से सांसद उदित राज ने अबतक खुद का नाम घोषित नहीं किए जाने पर अपने गुस्से का इजहार किया है।
महिला सांसदों के लिए नहीं धड़कता है ‘देश का दिल’, 7 दशक में केवल सात को चुना
उदित ने खुद को सबसे बड़ा दलित नेता बताते हुए ट्वीट भी किया, “मैंने अपनी पार्टी विलय की, पूरे देश से मेरे करोड़ों समर्थक मेरी टिकट को लेकर बेचैन हैं। उत्तर पश्चिम दिल्ली से मेरा नाम अभी तक घोषित नहीं किया। मेरे समर्थकों ने आज शाम 4 बजे तक इंतजार करने को कहा है। आखिर में मैं बीजेपी से उम्मीद करता हूं कि वह दलितों को धोखा नहीं देगी।”
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “अमित शाह जी आपसे कई बार बात करने की कोशिश की sms भी भेजा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात करने की कोशिश की। मनोज तिवारी लगातार कहते रहे है कि टिकट मेरा ही होगा। निर्मला सीतारमण भी कोशिश की लेकिन बात नहीं हो सकी और अरुण जेटली से भी आग्रह किया।”
लोकसभा चुनाव 2019: इन 7 सीटों पर है दिलचस्प मुकाबला, आपको होनी चाहिए जानकारी
गौरतलब है कि मंगलवार को दिल्ली की सीटों पर नामांकन की आखिरी तारीख है। दिल्ली में लोकसभा की कुल सात सीटों में से पार्टी छह सीटों पर प्रत्याशियों के नाम घोषित कर चुकी है। इसमें उत्तर-पश्चिम सीट रिजर्व है। रविवार को पार्टी ने चार सीटों के लिए अपने प्रत्याशी घोषित किए थे और सोमवार को दो। इनमें उत्तर-पश्चिम सीट शामिल नहीं है।
Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..
Lok sabha election Result 2019से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.