भाजपा के ‘राष्ट्रवाद’ पर सुरजेवाला का कड़ा प्रहार, पूछे 4 सवाल

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने भोपाल से साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को उतारा है। कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी चनाव लड़ेंगी। साध्वी को चुनाव लड़ने पर सियासत भी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से सवाल पूछे हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर पीएम मोदी और शाह से 4 सवाल पूछे हैं। सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि मोदीजी और अमित शाह जी से केवल 4 सवाल-
पहला- भोपाल की प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर को आपने भाजपा का टिकट दिया है या नहीं ?
दूसरा सवाल-क्या आप प्रज्ञा ठाकुर के बयान से पल्ला झाड़ कर अपनी ज़िम्मेदारी से मुक्त हो सकते है? 1/2
ये भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा के भोपाल से चुनाव लड़ने पर अनिल विज का बयान, कहा- चोट का बदला वोट से लेने का समय
 

मोदीजी और अमित शाह जी से केवल 4 सवाल-पहला-भोपाल कि प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर को आपने भाजपा का टिकट दिया है या नहीं ?दूसरा सवाल-क्या आप प्रज्ञा ठाकुर के बयान से पल्ला झाड़ कर अपनी ज़िम्मेदारी से मुक्त हो सकते है? 1/2 pic.twitter.com/wF64RVZT3q— Randeep Singh Surjewala (@rssurjewala) April 19, 2019

तीसरा- श्री हेमंत करकरे इस देश के शहीद है या नहीं ? श्री करकरे को शांति काल का सर्वोच्च वीरता पदक मिला है या नहीं?
चौथा – मोदी जी व अमित शाह केवल देश को इतना बता दें कि क्या देश के शहीदों के प्रति उनकी पार्टी का यही असली चाल चरित्र और चेहरा है?
यही आपका राष्ट्रवाद है ?
ये भी पढ़ें: शहीद हेमंत करकरे के सम्मान पर BJP- CONGRESS ‘साथ-साथ’, अकेली पड़ी साध्वी प्रज्ञा ने भी लिया यू टर्न

तीसरा- श्री हेमंत करकरे इस देश के शहीद है या नहीं ? श्री करकरे को शांति काल का सर्वोच्च वीरता पदक मिला है या नहीं?चौथा – मोदी जी व अमित शाह केवल देश को इतना बता दें कि क्या देश के शहीदों के प्रति उनकी पार्टी का यही असली चाल चरित्र और चेहरा है?यही आपका राष्ट्रवाद है ? 2/2 pic.twitter.com/K9sat9qmip— Randeep Singh Surjewala (@rssurjewala) April 19, 2019

साध्वी के बयान पर भाजपा का किनारा
गौरतलब है कि मुंबई हमले में शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे पर एक बार फिर सियासत जारी है। भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने शहीद करकरे पर विवादित बयान दिया था। जिसके बाद भाजपा ने उनके बयान से खुद को अलग कर लिया। वहीं कांग्रेस ने भी साध्वी के आरोप पर तंज कसा। हालांकि, लगातार हो रहे विरोध के बाद अकेली पड़ी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने भी यू टर्न ले लिया। भाजपा ने जहां साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान से किनारा काटते हुए साफ कहा है कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है। वहीं, कांग्रेस ने भी कहा कि शहीद हेमंत करकरे का सम्मान हो।
साध्वी ने करकरे पर लगाए गंभीर आरोप
गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा ने कहा है कि मुंबई के आतंकवाद निरोधक दस्ते के पूर्व प्रमुख हेमंत करकरे ने उन्हें मालेगांव विस्फोट मामले में गलत तरह से फंसाया था और वह अपने कर्मों की वजह से मारे गए। आपको बता दें कि 26 नवंबर 2008 को पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने मुंबई के कई स्थानों पर हमले किए थे, जिसमें हेमंत करकरे और मुंबई के कुछ अन्य अधिकारी शहीद हो गए थे। अब इस बयान पर जमकर राजनीति शुरू हो गई है।