बाबुल सुप्रीयो ने महागठबंधन को बताया ‘महा-ठगबंधन’, कहा- जनता नहीं देगी वोट

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता बाबुल सुप्रीयो ने संयुक्त विपक्ष के ‘महागठबंधन’ पर तंज कसा है। पश्चिम बंगाल में चुनाव आयोग द्वारा चुनाव प्रचार तय समय से 20 घंटा पहले समाप्त करने के निर्णय पर जहां विपक्षी दलों ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ एकजुटता दिखाई है, तो वहीं भाजपा के सांसद बाबुल सुप्रीयो ने विपक्षी महागठबंधन को ‘महाठगबंधन’ करार दिया।
‘महाठगबंधन’ को नहीं मिलेगा जनता का साथ
एक ट्वीट में सुप्रीयो ने कहा, ‘भारत के लोग ‘महाठगबंधन’ को कभी भी वोट नहीं देंगे, क्योंकि ये लोग हमेशा खुद को राजनीति से ऊपर रखते हैं।’ इसके साथ ही सुप्रीयो ने चुनाव आयोग पर भी देरी से कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। चुनाव आयोग पर समय पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए सुप्रियो ने ट्वीट में कहा, ‘छह चरणों तक आयोग ने चुप्पी साधे रखा, जबकि ममता और उनकी सहयोगियों द्वारा लोकतंत्र और मानवता की हत्या होती रही।’
यह भी पढ़ें- Video: टोल प्लाजा पर पिस्तौल तान फरार हुआ कार सवार, गुरुग्राम से सामने आया मामला
ममता बनर्जी का आयोग पर आरोप
आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने बंगाल में तय समय से पहले चुनाव प्रचार समाप्त करने का निर्णय वहां लगातार हो रही हिंसा के मद्देनजर किया है। यहां मंगलवार को कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान प्रसिद्ध समाज सुधारक फश्वर चंद विद्यासागर की प्रतिमा को तोड़ दिया गया था। आयोग के इस फैसले के बाद बनर्जी ने बुधवार को दावा किया था कि चुनाव आयोग ने भाजपा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के इशारे पर यह निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, ‘चुनाव आयोग की भाजपा के इशारों पर पक्षपाती कार्रवाई लोकतंत्र पर सीधा हमला है। लोग उन्हें माकूल जवाब देंगे।’
ममता बनर्जी को मिला मायावती का साथ
बनर्जी के सुर में सुर मिलाते हुए बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती ने गुरुवार को कहा, ‘चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में गुरुवार को 10 बजे रात के बाद चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। लेकिन प्रधानमंत्री दो रैलियों को संबोधित कर रहे हैं (प्रतिबंध लागू होने से पहले)। यह दिखाता है कि आयोग भाजपा के दबाव में काम कर रहा है।’
यह भी पढ़ें- पुणे में आग हादसा, दहकती इमारत से 25 लोगों को बचाया गया, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी