पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों को पीएम मोदी ने नहीं सिखों ने बचाया: उमर अब्दुल्ला

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि जम्मू में और देश के अन्य स्थानों पर कश्मीरी छात्रों को भीड़ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नहीं, बल्कि सिख समुदाय ने बचाया। उमर ने बारामुला शहर में पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि देशभर में सिख समुदाय ने कश्मीरी छात्रों को पुलवामा हमले के बाद भीड़ से बचाया है।
यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: भाजपा ने जारी की 39 उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, मुरली मनोहर जोशी का कटा टिकट
उमर ने कहा, ‘मोदी सरकार की यह जिम्मेदारी थी कि जम्मू और अन्य राज्यों में दक्षिणपंथी कट्टरपंथियों के हमले से छात्रों को बचाया जाए। लेकिन दुर्भाग्यवश जहां भी हिंसा हुई मोदी सरकार कहीं नहीं दिखी।’ अपने संबोधन के दौरान अब्दुल्ला ने पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के दौरान लोगों को गोलियां और पैलेट झेलने पड़े और अब वह उन्हीं लोगों को मूर्ख बनाने की कोशिश कर रही हैं।
यह भी पढ़ें-2जी स्पेक्ट्रम मामला: अदालत ने कहा- आरोपी जब तक पौधे नहीं लगाते, आगे नहीं बढ़ाएंगे
रैली में मौजूद नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता अली मुहम्मद सागर ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकर्ता वास्तविक मुजाहिदीन हैं। बता दें कि अली मुहम्मद सागर की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब कुछ दिन पहले महबूबा ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को असली मुजाहिदीन बताया था।