‘पीके’ की ट्वीट पर नीतीश कुमार का जवाब, ‘मन में है कोई भ्रम तो यह उनकी प्रॉब्लम’

नई दिल्ली। बिहार में इन दिनों सियासी सरगर्मी चरम पर है। एक ओर जहां राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के परिवार में घमासान मचा हुआ है। वहीं, दूसरी ओर जनता दल यूनाइटेड (JDU) में उठापटक जारी है। आधिकारिक रूप से राजनीति में कदम रख चुके जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (पीके) कुछ समय से पार्टी से नाराज चल रहे हैं। उनकी नारजगी पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आखिरकार चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा कि अगर प्रशांत किशोर के मन में कोई भ्रम है, तो यह उनकी प्रॉब्लम है।
नीतीश कुमार ने दिया बड़ा जवाब
एक कार्यक्रम के दौरान जब नीतीश कुमार से पीके की नाराजगी को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर को लोकसभा चुनाव में पार्टी का स्टार प्रचारक बनाया गया है। ऐसे में अगर पार्टी को लेकर उन्हें कोई भ्रम है तो यह उनकी दिक्कत है। नीतीश ने कहा कि अगर पार्टी में उन्हें कोई परेशानी है तो वो उसे अपने स्तर से समझने का प्रयास करें। इसके बावजद अगर पार्टी में अपनी भूमिका को लेकर उन्हें कोई भ्रम है, तो यह उनकी अपनी प्रॉब्लम है।
पीके को अभी राजनीति सीखने में वक्त लगेगा- नीतीश
बिहार सीएम ने कहा कि प्रशांत किशोर पहले चुनावी रणनीतिकार थे और अब वे राजनेता बने हैं, जाहिर सी बात है कि उन्हें अभी राजनीति सीखने में थोड़ा वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि आज भी पीके की टीम देश की अलग-अलग पार्टियों के लिए काम कर रही है। उन्हें कई लोग जानते हैं और कौन उनसे क्या कहता है और उसपर वो क्या सोचते हैं, ये तो वही जानें। वो लालूजी से बात करते हैं, तो एेसे में किसी के बोलने और मिलने पर रोक नहीं। लेकिन राजनीति में बहुत बातें सोचनी और समझनी पड़ती हैं। नीतीश के इन बयानों से साफ स्पष्ट है कि पार्टी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है।

बिहार में NDA माननीय मोदी जी एवं नीतीश जी के नेतृत्व में मजबूती से चुनाव लड़ रहा है।JDU की ओर से चुनाव-प्रचार एवं प्रबंधन की जिम्मेदारी पार्टी के वरीय एवं अनुभवी नेता श्री RCP सिंह जी के मजबूत कंधों पर है।मेरे राजनीति के इस शुरुआती दौर में मेरी भूमिका सीखने और सहयोग की है।— Prashant Kishor (@PrashantKishor) March 29, 2019

यह था प्रशांत किशोर का बयान
गौरतलब है कि प्रशांत किशोर ने कुछ दिन पहले एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंन लिखा, ‘बिहार में NDA माननीय मोदी जी एवं नीतीश जी के नेतृत्व में मजबूती से चुनाव लड़ रहा है। JDU की ओर से चुनाव-प्रचार एवं प्रबंधन की जिम्मेदारी पार्टी के वरीय एवं अनुभवी नेता श्री आरसीपी सिंह जी के मजबूत कंधों पर है। मेरे राजनीति के इस शुरुआती दौर में मेरी भूमिका सीखने और सहयोग की है। पीके की इस ट्वीट से बिहार की राजनीति में खलबली मच गई थी।’