पीएम के 40 विधायकों से संपर्क वाले बयान पर TMC की चुनाव आयोग से शिकायत, मोदी की उम्मीदवारी हो रद्द

नई दिल्ली। पीएम मोदी द्वारा टीएमसी के 40 विधायक संपर्क में है वाले बयान पर सियासत गरमा गई है। तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से मोदी की उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की है। टीएमसी ने आयोग से पत्र लिखकर उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की है। तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग के लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि पीएम मोदी का टीएमसी विधायकों का भाजपा में शामिल होने वाला बयान हॉर्स ट्रेडिंग को बढ़ावा देने वाला है। साथ ही भाजपा प्रचार के दौरान झूठ का इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने और अपने पक्ष में लुभाने वाला है। टीएमसी ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि मोदी के बयान पर सबूत मांगा जाएं और ठोस सबूत मुहैया नहीं कराने पर उनका नामांकन रद्द किया जाए।
ये भी पढ़ें: मोदी और शाह के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला, CJI की बेंच नहीं करेगी सुनवाई

TMC writes a letter to EC alleging violation of the Model Code of Conduct by PM Narendra Modi , “encouraging horse trading, by hinting that the members of the AITC will cross over to the BJP, and using this lie to influence the voters and using this lie to persuade the voters.”— ANI (@ANI) April 30, 2019

चुनाव बाद टीएमसी विधायक दीदी का साथ छोड़ देंगे- पीएम
गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की सेरमपुर में चुनावी सभा के दौरान पीएम ने ममता बनर्जी पर तंज कसता हुए कहा कि था 23 मई को जब चुनाव नतीजे आएंगे और सभी जगह कमल खिलेगा तब दीदी के विधायक उनका साथ छोड़ चुके होंगे। उन्होंने दावा किया कि दीदी के 40 विधायक आज भी मेरे संपर्क में हैं।
पीएम के बयान पर टीएमसी ने साधा निशाना
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर टीएमसी सांसद डेरक ओ ब्रायन ने कहा था कि एक्सपायरी बाबू पीएम, कोई भी आपके साथ नहीं जाएगा यहां तक कि 1 पार्षद भी नहीं जाएंगे। क्या आप चुनाव प्रचार कर रहे हैं या फिर खरीद फरोख्त आपका समय नजदीक आ गया है।