न अटल न आडवाणी, संकल्प पत्र में ‘मैं ही मैं और मेरा अहंकार’

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र जारी करते ही देश की राजनीति एक बार फिर गरमा गई। भाजपा के संकल्प पत्र में की गई घोषणाएं तो चर्चा का विषय बनी हीं साथ ही इसको पेश करने का तरीका भी विरोधियों के गले नहीं उतरा। दरअसल भाजपा के घोषणा पत्र में मोदी मेनिया हावी दिखा। भले ही भाजपा के पास ब्रांड के नाम पर सिर्फ मोदी चेहरा है लेकिन उनका ये चेहरा अब उनके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। सियासी गलियारों में जहां संकल्प पत्र में मोदी ही मोदी को लेकर चर्चा है वहीं प्रमुख विरोधी पार्टी कांग्रेस ने भी मोदी पर सीधे तौर पर निशाना साधा है।
न वरिष्ठ का साथ न आम का आदरभारतीय जनता पार्टी ने जब ‘संकल्प पत्र’ जारी किया, उस दौरान न तो मंच पर लालकृष्ण आडवाणी समेत न तो कोई वरिष्ठ नेता नजर आया और ना ही पार्टी के दिवगंत नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जैसे आधार स्तंभ की तस्वीर दिखी। कुछ ऐसा ही नजारा संकल्प पत्र के कवर फोटो का भी रहा। इसमें सिर्फ मोदी ही मोदी नजर आए।
कांग्रेस ने ऐसे साधा निशानाभाजपा का ‘संकल्प पत्र’ जारी होने के बाद कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस कॉन्फ्रेंस के जरिये कांग्रेस ने भाजपा की सोच पर निशाना साधा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने भाजपा और कांग्रेस के मेनिफेस्टो का कवर फोटो अपने हाथ में लेकर ये बताया कि किस तरह कांग्रेस के कवर फोटो पर आम जनता, किसान को जगह दी गई है, लेकिन भाजपा के कवर फोटो पर सिर्फ मोदी ही नजर आ रहे हैं। पटेल ने कहा कि भाजपा में अब मैं ही मैं और सिर्फ मेरा अहंकार नजर आता है।
आपको बता दें कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छोटी सी तस्वीर दिखाई गई है जबकि एक बड़े हिस्से में जनता को दिखाया गया है। कांग्रेस ने इसी को आधार बनाकर कहा कि इस कवर फोटो से ही राजनीतिक दल की सोच सामने आती है। भाजपा को सिर्फ मोदी ही मोदी नजर आता है जबकि कांग्रेस के लिए अब भी आम जनता ही महत्वपूर्ण है।