‘न्याय’ को लेकर प्रियंका का वार, उद्योगपतियों की कर्जमाफी के लिए मोदी सरकार पर कहां से आए 317 हजार करोड़

नई दिल्ली। जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, देश का सियासी पारा भी चढ़ता नजर आ रहा है। कांग्रेस और भाजपा समेत तमाम राजनीतिक दल एक दूसरे पर हमला करने का कोई मौका नहीं चूक रहे हैं। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा हाल में न्याय योजना की घोषणा का जहां मजाक उड़ाया है, वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मोदी सरकार को लेकर हमलावर हो गईं हैं। न्याय योजना पर भाजपा के तंज का जवाब देते हुए प्रियंका ने कहा कि भाजपा ने इसको चुनावी जुमला बताया है। भाजपा के अनुसार देश के पास इस योजना के लिए आवश्यक बजट ही नहीं है, लेकिन जब उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया जाता है तो धन की कोई कमी नहीं होती। प्रियंका ने कहा कि तब इसी सरकार के पास 317 हजार करोड़ रुपए निकल आते हैं। अब खुद जनता को ही सोचना होगा कि क्या ऐसे लोगों पर भरोसा किया जा सकता है।
प्रियंका ने सुनी किसानों की समस्याएं, वीडियो ट्विट कर पूछा- सुन रहे हैं, प्रधानमंत्री जी?
न्याय योजना महिलाओं को सशक्त करेगी
आपको बता दें कि राहुल गांधी ने हाल ही में घोषणा की है कि कांग्रेस की सरकार आने पर न्याय योजना लाई जाएगी। एनवाईएवाई (न्याय) गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक साबित होगी। भारत के 20 फीसद सबसे गरीब परिवारों को साल में 72,000 रुपये मिलेंगे। वहीं, राहुल की बहन व कांग्रेस महासचिव (पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी) प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि न्याय योजना महिलाओं को सशक्त करेगी। उन्होंने ट्वीट किया, “खुशी है कि न्याय योजना के तहत 72,000 रुपये सीधे परिवार की महिलाओं के खाते में जाएंगे। एक महिला सशक्त होगी तो परिवार सशक्त होगा।
माया पर ‘मेहरबान’ प्रियंका, बोलीं— बसपा सुप्रीमो को घबराने की जरूरत नहीं
मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा
आपको बता दें कि कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी शुक्रवार को अयोध्या दौरे पर थीं। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। प्रियंका ने कहा कि मोदी ने देश के साथ झूठ बोला है।