नीरव मोदी की गिरफ्तारी पर ममता का बड़ा बयान, बोलीं- मोदी सरकार का कोई रोल नहीं

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक के हजारों करोड़ रुपए का घोटाला करन फरार होने वाले भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी की लंदन में गिरफ्तारी को लेकर अब सियासत भी शुरू हो गया है। दरअसल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नीरव मोदी की गिरफ्तारी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि नीरव मोदी की गिरफ्तारी का श्रेय मोदी सरकार को नहीं बल्कि एक पत्रकार को जाता है। ममता ने मोदी सरकार को इसका श्रेय देने से इनकार करते हुए बुधवार को कहा कि यह एक गॉट-अप मैच है। संवाददाताओं से बातचीत करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, “यह भाजपा की चाल है। इसका (नीरव मोदी की गिरफ्तारी का) श्रेय लंदन के टेलीग्राफ के उस पत्रकार को दिया जाना चाहिए जिन्होंने नीरव मोदी का खुलासा किया। यह एक गॉट-अप मैच है। भाजपा सरकार को कोई श्रेय नहीं जाता है।

Credit goes to journalist for Nirav Modi’s arrest, says Mamata BanerjeeRead @ANI Story | https://t.co/CMz4N8fic8 pic.twitter.com/Pr7OD8ZySi— ANI Digital (@ani_digital) March 20, 2019

नीरव मोदी की गिरफ्तारी को भाजपा ने बताया एक स्ट्राइक
बता दें कि मंगलवार को भगोड़े नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद भारत में भी सियासी घमासान शुरू हो गया। जहां सरकार इसे अपनी उपलब्धि बताकर विपक्ष को घेरने में जुट गई वहीं विपक्ष इसे एक मैच फिक्सिंग बता रही है। यानी विपक्ष का आरोप है कि सरकार ने पहले भगाया और फिर चुनाव को देखकर उसकी गिरफ्तारी का नाटक करवा रही है। भारतीय जनता पार्टी ने भगोड़ा कारोबारी की गिरफ्तारी को लोकसभा चुनाव 2019 से पहले एक स्ट्राइक बताया है। तो वहीं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि आम चुनाव के दौरान भाजपा की ओर से ऐसे अनेक स्ट्राइक होंगे।
भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक खत्म, आज दोपहर 12 बजे 250 उम्मीदवारों का एलान संभव
लंदन की सड़कों पर घूमता नजर आया था नीरव मोदी
बता दें कि दो दिन पहले ही नीरव मोदी के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी किया गया था। लंदन के वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने इस भगौड़े कारोबारी के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी किया था। गिरफ्तार होने के बाद बुधवार को वेस्टमिनिस्टर कोर्ट में नीरव मोदी की सुनवार्इ के दौरान उसकी बेल याचिका को खारिज कर दिया गया। कोर्ट ने कहा है कि नीरव मोदी को 29 मार्च तक जेल में ही रहना होगा। नीरव मोदी की इस गिरफ्तारी को भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत माना जा रहा है। 29 मार्च को नीरव मोदी के खिलाफ अगली सुनवाई होगी। साथ ही प्रवर्तन निदेशालय का एक जांच अधिकारी भी लंदन जाएगा। आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के प्रत्यर्पण अनुरोध पर लंदन की एक अदालत ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। मालूम हो कि नीरव मोदी पिछले दिनों लंदन की सड़कों पर हुलिया बदलकर घूमता नजर आया था। जबकि, उसके खिलाफ इंटरपाेल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ था। ब्रिटेन की वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने इस मामले को गंभीरता लिया और उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था। जानकारों की मानें तो उसके भारत प्रत्यर्पण में बहुत लंबा वक्त लग सकता है। क्योंकि गिरफ्तारी के बाद उसके पास कोर्ट जाने का विकल्प होगा और कोर्ट से उसे कुछ शर्तो के साथ जमानत भी मिल सकती है।
 
Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.