देश के लिए आज ऐतिहासिक दिन,  पिछली सरकार ने वैज्ञानिकों को नहीं दी इजाजत: जेटली

नई दिल्ली। भारत ने बुधवार को दुनिया में अंतरिक्ष महाशक्ति के रूप में अपना नाम आज दर्ज करा लिया है। अंतरिक्ष महाशक्ति बनने वाला भारत चौथा देश बन गया है। भारत ने मिशन शक्ति के जरिए लो अर्थ ऑर्बिट में लाइव सेटेलाइट को मार गिराया है। वहीं, इस घोषणा के बाद भाजपा नेता अरुण जेटली ने कहा कि देश के लिए आज ऐतिहासिक दिन है।
 

FM Arun Jaitley on #MissionShakti: The process started in 2014 after the PM gave the permission, it’s a huge achievement, not only we have become space power but we are now in big four. We should not forget that tomorrow’s wars will not be the same as yesterday’s wars. pic.twitter.com/gEWdpVXWuz— ANI (@ANI) March 27, 2019

– मीडिया से बात करते हुए केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस कामयाबी के लिए सभी वैज्ञानिक बधाई के पात्र हैं।
– ये सुरक्षा से जुड़ा विषय है- जेटली
– पीएम मोदी कल की सोचते हैं- जेटली
– वैज्ञानिक सालों से इस मिशन को पूरा करना चाहते थे- जेटली
– कांग्रेस की असक्षमता इतिहास में दर्ज- जेटली
– पहले सरकार ने वैज्ञानिकों को मंजूरी नहीं दी- जेटली
– जेटली ने बताया कि भारत के वैज्ञानिकों ने कहा कि हमारे पास छमता है, लेकिन सरकार अनुमति नहीं देती। आज उन्हीं वैज्ञानिकों ने सफलता हासिल की।
– जेटली ने कहा आज अंतरिक्ष में हमारी बड़ी सफलता
– हमारी तैयारी ही हमारी सबसे बड़ी सुरक्षा- जेटली
– भारत आज स्पेस पावर बना- जेटली
– जेटली ने कहा कि जो लोग अपनी नाकामियों के लिए अपनी पीठ थपथपाते हैं, उनको याद रहना चाहिए कि उनसे जुड़ी कहानियों के पद चिह्न बहुत लंबे हैं और कहीं न कहीं ये पद चिह्न मिल ही जाते हैं।