तेजप्रताप के बदले सुर, ‘नया मोर्चा बनाने का खंडन, मेरी पार्टी RJD थी और रहेगी’

नई दिल्ली। बहुत पुरानी कहावत है कि राजनीति में कब, कहां और क्या हो जाए यह कोई नहीं जानता? अब इस कथन को चरितार्थ किया है राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने। तेज प्रताप ने अचानक यू टर्न लेते हुए कहा कि आरजेडी मेरी पार्टी थी…, है…और रहेगी।
नरम हुए ‘लालू के लाल’
लालू के लाल ने हाल ही में ऐलान किया था कि वह ‘लालू-राबड़ी’ नाम से मोर्चा बनाएंगे। लेकिन, अचानक उनके सुर बदल गए हैं। शनिवार को ट्वीट करते हुए तेजप्रताप ने कहा कि उन्होंने राजद से इस्तीफा न दिया है और न ही उन्होंने किसी अन्य राजनीतिक पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। उन्होंने कहा कि मीडिया और सोशल मीडिया पर लगातार खबर चल रही है कि मैंने नई राजनीति पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। तेज ने कहा कि यह महज एक अफवाह है। मैं इसका खंडन करता हूं। मेरी पार्टी हमेशा से राष्ट्रीय जनता दल थी, है और रहेगी।
 

मीडिया और सोशल मीडिया पे चल रही खबर की मैंने नई राजनैतिक पार्टी का सदस्यता ग्रहण किया है, ये एक अफवाह है। मैं इस खबर का पूर्ण रूप से खंडन करता हूँ। मेरी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल है, थी और रहेगी।— Tej Pratap Yadav (@TejYadav14) April 6, 2019

सीट बंटवारे से नाराज थे तेज
गौरतलब है कि महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर तेजप्रताप यादव लगातार नाराज चल रहे थे। उन्होंने सारण से अपने ससुर चंद्रिका राय को टिकट दिए जाने पर आपत्ति जताई थी। साथ ही वह जहानाबाद और शिवहर लोकसभा सीट पर अपने मनपसंद उम्मीदवार को उतारना चाहते थे। जहानाबाद से तो उन्होंने चंद्रप्रकाश को नामांकन तक करने के लिए कह दिया था। आरजेडी से तेजप्रताप इतने नाराज हो गए कि उन्होंने लालू-राबड़ी नाम से अलग मोर्चा तक बनाने का ऐलान कर दिया था। लेकिन, अब उन्होंने इसे अफवाह करार दिया है।