जम्मू-कश्मीर: अनुच्छेद 370 भंग करने पर भड़के फारूक अब्दुल्ला, डटकर करेंगे इसका मुकाबला

श्रीनगर: आम लोगों के लिए हफ्ते में दो दिन जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग बंद करने को लेकर नाराज चल रहे नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला एक बार फिर केंद्र के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है। केंद्र की ओर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के प्रस्ताव पर अब्दुल्ला ने कड़ी आपत्ति जताई है। केंद्र पर तंज कसते हुए कहा कि क्या ये लोगों को बाहर से लाएंगे, फिर यहां बसाएंगे और हम यहां सोते रहेंगे। हम भी देखते हैं, हम डटकर इसका मुकाबला करेंगे। देखते हैं सूबे से कैसे यह 370 को खत्म करते हैं। अल्लाह की कसम कहता हूं कि अल्लाह को यही मंजूर होगा हम इनसे आजाद हो जाएं। करें हम भी देखते हैं। देखते हैं फिर कौन इनका झंडा खड़ा करने के लिए यहां तैयार होता है।

#WATCH F Abdullah: Bahar se laenge, basaenge,hum sote rahenge?Hum iska muqabala karenge,370 ko kaise khatam karoge?Allah ki kasam kehta hun,Allah ko yahi manzoor hoga,hum inse azad ho jayen.Karen hum bhi dekhte hain.Dekhta hun phir kon inka jhanda khada karne ke liye taiyar hoga. pic.twitter.com/hrxoh9ECOY— ANI (@ANI) April 8, 2019

चुपचाप हाथ पर हाथ धरे बैठे नहीं रहेंगे- अब्दुल्ला
मुनव्वराबाद में नेशनल कॉन्फ्रेंस की चुनावी सभा में बोलते हुए फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि वह क्या सोचते हैं कि धारा 370 को निरस्त कर देंगे और हम यहां चुपचाप हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे। वह गलत सोचते हैं, वह किस भ्रम में हैं। हम इसका डटकर मुकाबला करेंगे।
भाजपा ने भंग करने का रखा प्रस्ताव
गौरतलब है कि भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य के लिए मिली सुविधा आर्टिकिल 370 और 35A को खत्म करने का जिक्र है। भाजपा राज्य से अनुच्छेद खत्म करने की योजना बना रही है। भाजपा के इस प्रस्ताव पर जम्मू-कश्मीर में संग्राम छिड़ा हुआ है। नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी समेत अलगाववादी नेता इसका विरोध कर रहे हैं। नेताओं का कहना है कि सूबे से इस अनुच्छेद को किसी भी स्थिति में खत्म नहीं किया जाना चाहिए नहीं तो हालात बिगड़ जाएंगे।