चुनाव की तारीखों पर विवाद बेवजह, राहुल गांधी के इशारों पर नेता कर रहे बयानबाजी- रविशंकर प्रसाद

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद सियासी घमासान मचा हुआ है। सत्तापक्ष और विपक्ष इस मुद्दे पर आमने-सामने हैं। कांग्रेस के वार पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पलटवार किया है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि चुनाव की तारीखों पर विवाद बेवजह किया जा रहा है। इस मसले पर कांग्रेस के नेता सेना के शौर्य पर सवाल उठा रहे हैं । राहुल गांधी के इशारों पर कांग्रेस के नेता इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एयर स्ट्राइक पर फारुख अब्दुल्ला का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है।
फारूक अब्दुल्ला ने चुनाव पर उठाए सवाल
गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव का ऐलान कर दिया। 7 चरणों में लोकसभा के चुनाव पूरे किए जाएंगे। वहीं जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव ना होने पर राज्य के पूर्व फारूक अब्दुल्ला ने बड़े सवाल उठाए हैं। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि राज्य में सभी राजनीतिक दल विधानसभा चुनाव कराने के पक्ष में हैं। अगर लोकसभा चुनाव के लिए माहौल ठीक है तो फिर विधानसभा चुनाव कराने में क्या परेशानी है। अब्दुल्ला ने कहा कि जब राज्य में पंचायत चुनाव कराए जा सकते हैं तो फिर ये क्यों नहीं?
चुनाव की तारीखों पर उठे सवाल
गौरतलब है कि चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद सियासी दलों ने सवाल खड़े किए हैं। रमजान का हवाला देते हुए सियासी दलों ने सवाल उठाए हैं। हालांकि चुनाव आयोग ने साफ कर दिया है कि चुनावी तारीख तय करते समय रमजान और त्योहार को ध्यान में रखा गया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि रमजान पूरे महीने चलता है, ऐसे में चुनाव नहीं टाले जा सकते थे। चुनाव की तारीखों का चयन करते समय हमने त्योहार और जुमे का ध्यान रखा है। चुनावी कार्यक्रम इस तरह से तैयार किया गया है कि किसी को इससे असुविधा न हो।
भारत की कार्रवाई पर भी उठाए सवाल
पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ भारत की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई को लेकर भी फारूक अब्दुल्ला ने तीखा हमला बोला । उन्होंने कहा कि ‘हम हमेशा से जानते थे कि पाकिस्तान के साथ लड़ाई या झड़प होगी। यह सर्जिकल स्ट्राइक (हवाई हमला) इसलिए किया गया क्योंकि चुनाव नजदीक आ रहे हैं। हमने करोड़ों का एक विमान खोया। शुक्र है कि पायलट (IAF) बच गया और सम्मान के साथ पाकिस्तान से लौटा’।