चुनाव आयोग से मिले 22 विपक्षी दलों के नेता, गिनती से पहले VVPT पर्चियां मिलाई जाएं

नई दिल्‍ली। लोकसभा चुनाव परिणाम आने से पहले एक बार फिर ईवीएम को लेकर घमासान जारी है। मंगलवार को विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से मुलाकात की। 22 विपक्षी दलों के नेताओं ने चुनाव आयोग से मिलकर ज्ञापन सौंपा। विपक्षी दलों ने ईवीएम में टैंपरिंग की आशंका जताते हुए कहा कि चुनाव के वक्त कई ईवीएम मशीन खराब थीं। मत गिनती से पहले VVPT पर्चियां मिलाई जाएं। हालांकि आयोग ने ईवीएम को लेकर किसी तरह की छेड़छाड़ की आशंका को खारिज कर दिया है।आयोग ने कहा कि ईवीएम पूरी तरह से सुरक्षित है। चुनाव आयोग से मिलने से पहले विपक्षी दलों की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने की। इस बैठक में कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद, राजस्‍थान के सीएम अशोक गहलोत, बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा, सपा नेता राम गोपाल यादव, सीपीआई नेता सीताराम येचुरी, टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन व अन्‍य शामिल रहे।
महाराष्‍ट्र: मराठा छात्रों के लिए आरक्षण आज से लागू, SEBC श्रेणी के छात्रों को मिलेगा इसका लाभ
 

Delhi: A meeting of opposition leaders is underway at the Constitution Club of India. pic.twitter.com/0AB86GJ2zB— ANI (@ANI) May 21, 2019

ईवीएम भी अहम मुद्दा
बैठक में मतगणना के बाद गैर राजग सरकार के गठन को लेकर विपक्षी नेताओं के बीच विचार-विमर्श होगा। इसके साथ ही एग्जिट पोल के रुझान के बाद विपक्षी नेताओं के निशाने पर चुनाव आयोग और ईवीएम हैं। ईवीएम की को लेकर भी विपक्षी दल के नेता चर्चा की।
नीतिश कुमार की महागठबंधन में जाने की चर्चा पर लगा विराम, आज शाह के दावत में होंगे शामिल
गैर राजग सरकार को लेकर चंद्रबाबू सक्रिय
बता दें कि गैर राजग सरकार के गठन को लेकर विपक्षी दलों के नेताओं को एकजुट करने में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू रविवार से सक्रिय हैं। उन्होंने सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी के साथ कोलकाता में इस मुद्दे पर चर्चा की थी। बनर्जी के साथ हुई 45 मिनट की वार्ता में विपक्षी दलों के महागठबंधन की केंद्र में बनने वाली गैर भाजपा सरकार को लेकर बातचीत हुई, जिसमें कांग्रेस समेत अन्य क्षेत्रीय दलों को शामिल करने पर विचार किया गया।
ये नेता शामिल
इससे पहले चंद्रबाबू नायडू कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा प्रमुख अखिलेश यादव, दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल, सीपीआई महासचिव सीताराम येचुरी और डी राजा से भी इस मुद्दे पर बातचीत की।
सुप्रीम कोर्ट का टेक्‍नोक्रैट्स को बड़ा झटका, 100% VVPAT मिलान की याचिका की खारिज