चुनाव आयोग से मिले पीयूष गोयल, पंश्चिम बंगाल में हिंसा वाले बूथों पर दोबारा मतदान कराने की मांग की

नई दिल्‍ली। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के नेतृत्‍व में सोमवार को भारतीय जनता पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला। मुलाकात के दौरान पीयूष गोयल ने चुनाव आयोग को पश्चिम बंगाल सहित देश अन्‍य हिंसा प्रभावित निर्वाचन क्षेत्रों के बारे में जानकारी दी। उन्‍होंने चुनाव आयोग से मांग की है कि इन सीटों पर दोबारा से आयोग मतदान कराए। खासतौर से पश्चिम बंगाल के हिंसाग्रस्‍त सीटों पर दोबारा से मतदान कराने पर की मांग पर उन्‍होंने जोर दिया।
EXIT POLL 2019 : बंगाल के रास्ते वापस आ रहे हैं मोदी!

Piyush Goyal, BJP after meeting with EC: We gave the Election Commission detailed information of the violence inflicted upon our workers. We reiterated our demand for re-poll for constituencies where violence occurred in 7th phase and earlier phases, particularly in West Bengal . pic.twitter.com/gyS3WTmLyb— ANI (@ANI) May 20, 2019

राष्‍ट्रपति से संज्ञान लेने की मांग की
इससे पहले पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो पर हुए हमले की निंदा करते हुए रेलमंत्री मंत्री पीयूष गोयल ने राष्ट्रपति से संज्ञान लेने का अनुरोध किया था। उन्होंने इस मुद्दे पर चुनाव आयोग से सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी। चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद गोयल ने मीडिया को बताया था कि ममता सरकार को गुंडा राज करार दिया था।
Exit poll 2019: पप्पू यादव ने तेजस्वी पर साधा निशाना, कहा- ‘बिहार विधानसभा चुनाव…
चुनाव आयोग को बताया मूकदर्शक
उन्‍होंने पश्चिम बंगाल में छह चरणों के चुनाव में हिंसक घटनाओं के बावजूद कोई कदम न उठाने के लिए चुनाव आयोग को मूकदर्शक बताया था। उन्‍होंने कहा था कि जिस प्रकार भाजपा अध्यक्ष के रोड शो में जनता उमड़ी थी उसे देखकर ममता दीदी घबरा गई हैं। यही कारण है कि उन्होंने हिंसा का रास्ता अपनाया और रोड शो पर हमला किया।
लोकसभा चुनाव: वोट डालने के बाद सीएम योगी बोले, भाजपा को मिलेंगी 300 से ज्‍यादा सीटें