चुनावी परिणाम से एक दिन पहले स्मृति ईरानी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया मैसेज, पोस्ट में लिखी यह बात

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव का परिणाम आने से ऐन पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोशल मीडिया पर कई मैसेज शेयर किए हैं। इन मैसेज में उन्होंने न केवल जनता का धन्यवाद किया है, बल्कि प्रधानमंत्री मोदी पर की जा रही टीका टिप्पणियों की भी निंदा की है। दरअसल, स्मृति ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर कई ट्वीट किए। उन्होंने अपने पहले ट्वीट में लिखा है कि 24 घंटे के बाद लोग टीवी के सामने पोल बाय पोल और चुनावी विश्लेषण देखने के लिए चिपके होंगे। उन्होंने लिखा कि इससे पहले वह सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहती हैं।
कश्मीर: मेंढर आईईडी ब्लास्ट में एक जवान शहीद, कुलगाम में 2 आतंकी ढेर
 

24 hours to go .. while most of us will be glued to our TV sets tomorrow to watch vote by vote, count by count analysis, here’s taking this opportunity to say thank you for the countless blessings of millions across the Nation for my party and my leadership ?— Chowkidar Smriti Z Irani (@smritiirani) May 22, 2019

ओडिशा: कालाहांडी में ट्रक ने कार को रौंदा, एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी लोगों को थैंक्यू बोलते हुए लिखा है कि चुनाव के दौरान देश भर में लाखों लोगों के आशीर्वादों के लिए धन्यवाद कहने का यह सही अवसर है। उन्होंने लिखा कि हम सभी कड़ी मेहनत, दृढ़ता और कार्याकार्यों की निस्वार्थता का गवाह बनने के लिए विनम्र हैं, जो किसी पद की तलाश नहीं करते हैं, स्वयं के लिए कोई गौरव नहीं है, लेकिन विशुद्ध रूप से एक नए भारत के निर्माण की प्रबल इच्छा के साथ संचालित होते हैं – लचीला, पुनरुत्थान, सबका साथ, सबका विकास के लिए संकल्पित हैं।
पंजाब के 6 मंत्रियों ने सिद्धू के खिलाफ खोला मोर्चा, चुनाव नतीजों के बाद बड़ी कार्रवाई के संकेत
 

We are all humbled to bear witness to the hard work , the perseverance and the selflessness of karyakartas who seek no post, no glory for self but are purely driven with a strong desire to build a New India— resilient, resurgent, committed to sabka saath, sabka vikas.— Chowkidar Smriti Z Irani (@smritiirani) May 22, 2019

उन्होंने यह भी लिखा कि हम केरल और पश्चिम बंगाल में विशेष रूप से केरल के परिवारों द्वारा किए गए बलिदानों के प्रति सचेत हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मरने वालों को श्रद्धांजलि देने के लिए कभी भी कोई शब्द पर्याप्त नहीं होगा। हालांकि, सबसे अच्छी श्रद्धांजलि यह होगी कि हर दिन हम राष्ट्र निर्माण में रचनात्मक योगदान दें।