गोवा में सरकार बनाने के लिए सियासी हलचल तेज, नितिन गड़करी ने सहयोगी दलों के साथ की मुलाकात

पणजी। मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में सरकार की अस्थिरता को लेकर सियासत गर्मा गई है। लिहाजा कांग्रेस ने राज्यपाल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया है। वहीं दूसरी ओर केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गड़करी रविवार देर रात गोवा पहुंचे। उन्होंने बाकी क्षेत्रीय सहयोगी दलों के साथ मुलाकात की। सहयोगी दल एमजीपी के सुदीन धवलीकर ने नितिन गड़करी से मिलकर बातचीत की। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि वे एक घंटे के बाद विधायकों के साथ बातचीत करने के बाद कुछ भी फैसला किया जाएगा। मैं अभी पार्टी के कार्यकारी समिति के पास जा रहा हूं, वहां मैं उनसे संकल्प लेने को कहूंगा। एक घंटे बाद हम सबको पता चल जाएगा कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। इससे पहले गोवा फॉर्वर्ड पार्टी (GFP) के प्रमुख विजयी सरदेसाई अपने दो विधायकों विनोद पालेकर और जयेश सालगोनकर एवं दो निर्दलीय विधायकों रोहण खुंटे और गोविंद गोडे के साथ नितिन गड़करी से मिलने पहुंचे। बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद रविवार की देर रात को गोवा पहुंचे।

Panaji: Goa Forward Party (GFP) Chief Vijai Sardesai with party MLAs Vinod Palyekar & Jayesh Salgaonkar along with two independent MLAs Rohan Khaunte and Govind Gaude arrives for meeting with senior BJP leader Nitin Gadkari . pic.twitter.com/0PwxbW9ea7— ANI (@ANI) March 17, 2019

Sudin Dhavalikar, MGP after meeting with Nitin Gadkari: They will decide in 1 hour after discussions with the MLAs. I’m going to the executive committee of my party, I will ask them to have a resolution. After one hour we will know who is the candidate. #Goa #Panaji pic.twitter.com/zdwdIMX5xX— ANI (@ANI) March 17, 2019

Goa: Union Minister and senior BJP leader Nitin Gadkari arrives in Panaji for the BJP legislature meet following the demise of Goa CM Manohar Parrikar . pic.twitter.com/yUPKZ2FKIp— ANI (@ANI) March 17, 2019

कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा
आपको बता दें कि इससे पहले कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा को एक पत्र लिखकर यह जाहिर किया है कि मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद राज्य में भाजपा सरकार अल्पमत में है। लिहाजा सरकार को बर्खास्त किया जाए और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाए। बता दें कि गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। 2017 विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को 13 कांग्रेस को 17, निर्दलीय तीन, जीएफपी को तीन एमजीपी को तीन, एनसीपी को एक सीट मिला था। भाजपा ने निर्दलीय, जीएफपी, और एमजीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। लेकिन अब सीएम पर्रिकर के निधन के बाद कांग्रेस का दावा है कि सरकार अल्पमत में है। बता दें के सरकार बनाने के लिए गोवा में 21 विधायकों के समर्थन की आवश्कता है।

Goa Congress leaders G Chodankar & C Kavlekar write letter to Goa Governor staking claim to form Government, letter reads “Coalition partners of Parrikar led Govt had allied with BJP on condition that Govt is headed by Manohar Parrikar. BJP therefore has no allies as of now.” https://t.co/5HIqE2WRDi— ANI (@ANI) March 17, 2019

 
Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.