गोडसे वाले बयान पर साध्वी प्रज्ञा ने मांगी माफी, ECI ने मध्य प्रदेश चुनाव आयोग से तलब की रिपोर्ट

नई दिल्ली। भोपाल लोकसभा सीट पर बेशक चुनाव खत्म हो चुका है लेकिन बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ( Sadhvi Pragya ) के एक बयान ने इसे फिर सुर्खियों में ला दिया। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे ( Nathuram Godse ) को साध्वी ने ‘देशभक्त’ बताया है, जिसके बाद उपजे राजनीतिक विवादों पर अब चुनाव आयोग सक्रिया हो गया है। केंद्रीय चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त से इस संबंध में रिपोर्ट तलब की है।हालांकि साध्वी ने अब माफी मांगी ली है।

Election Commission has sought factual report from Chief Electoral Officer, Madhya Pradesh by tomorrow in the matter of Pragya Singh Thakur’s statement “Nathuram Godse was, is and will remain a ‘deshbhakt'” pic.twitter.com/5PJIWpAbQK— ANI (@ANI) May 16, 2019

शुक्रवार तक देना होगा बयान पर रिपोर्ट
चुनाव आयोग ने राज्य चुनाव आयोग से शुक्रवार तक बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के विवादित बयान पर तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। जिसमें साध्वी ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त ही रहेंगे।
बंगाल में घुसपैठिए की मौज लेकिन काली मां और राम के भक्त डर कर जीने को मजबूर: मोदी
फटकार लगी तो बदले साध्वी के सुर
वहीं विपक्ष की ओर से हंगामा खड़ा होता देख बीजेपी ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान से किनारा कर लिया। पार्टी से फटकार मिलने के बाद साध्वी ने एक बयान जारी कर माफी मांगी है। प्रज्ञा ने कहा कि वह मेरी व्यक्तिगत राय है। मेरा इरादा किसी को ठेस पहुंचाने की नहीं थी। अगर मेरे बयान से किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं। गांधी जी ने देश के लिए जो कुछ भी किया है, उसे भुलाया नहीं जा सकता है। मेरे बयान को मीडिया ने तोड़-मड़ोकर पेश किया

BJP’s Pragya Thakur says, “Apne sangathan BJP mein nishtha rakhti hun, uski karyakarta hun aur party ki line meri line hai.” Earlier in the day, she had said “Nathuram Godse was, is and will remain a ‘deshbhakt’.” BJP has condemned her statement & asked her to apologise publicly pic.twitter.com/0bPJSsgPaL— ANI (@ANI) May 16, 2019

बीजेपी ने कहा- माफी मांगें साध्वी
बता दें कि बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की थी और हत्या करने वाले को उसी नजर से देखा जाना चाहिए। साध्वी को इस बयान के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।
साध्वी प्रज्ञा और हिंदू विरोधी पोस्ट करने पर डॉक्टर की मुंबई से गिरफ्तारी
साध्वी ने क्या कहा है?
मालेगांव ब्लास्ट मामले में जमानत पर चल रही साध्वी कमल हासन के बयान पर दे रही थीं। उन्होंने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त ही रहेंगे। उनको आतंकी कहने वाले लोगों को अपने गिरेबां में झांककर देखना चाहिए।