गुजरात में बोले उद्धव ठाकरे, ‘शिवसेना और भाजपा का मिला दिल, शाह की रैली में आने से कई लोगों को दर्द’

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात के गांधीनगर लोकसभा सीट से अपना नामांकन पत्र भरा। लेकिन, उससे पहले शाह ने मेगा रोड शो और रैली किया। इस रैली में पार्टी के कई दिग्गज नेताओं के साथ-साथ सहयोगी दल के नेता भी मौजूद रहे। शाह की रैली में शिवेसान प्रमुख उद्धव ठाकरे भी पहुंचे थे। इस दौरान ठाकरे ने जहां विपक्षियों पर निशाना साधा, वहीं भाजपा के साथ संबंधों को लेकर बड़ी बात कही।
भाजपा और शिवसेना का दिल मिला-ठाकरे
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि कुछ समय पहले भाजपा और शिवसेना के बीच मनमुटाव जरूर था। लेकिन, अब दोनों का दिल मिल गया है। ठाकरे ने कहा कि अमित भाई जब मेरे घर आए और उनसे बातचीत हुई तो सब मनमुटाव खत्म हो गया। उन्होंने कहा कि शिवसेना और भाजपा की विचारधारा एक है, जो हिंदुत्व है। मेरे पिताजी कहते थे कि हिंदुत्व हमारी सांस है। यह रुक जाए, तो कैसे चल सकते हैं। उन्होंने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि उनके गठबंधन में दिल मिले न मिले, वे हाथ मिला रहे हैं। लेकिन, भाजपा और शिवसेना का दिल मिल गया है। ठाकरे ने कहा कि मैं विपक्ष से पूछना चाहता हूं कि आपका नेता कौन है? हमें भी सत्ता चाहिए पर हम कुर्सी के लिए पागल नहीं हो गए हैं। यहां जैसे भीड़ मोदी-मोदी जी के नारे लगा रही है, वैसे विपक्ष से बोलो कि एक नेता का नारा लगाए। उनमें न कोई सोच एक जैसी है और न एकता।
गांधी नगर आने से कुछ लोगों के पेट में दर्द- ठाकरे
उद्धव ठाकरे यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि मैं अमित शाह की रैली में गांधीनगर आया हूं। लेकिन, इस खबर से कुछ लोगों को आनंद हुआ तो कुछ को पेट में दर्द हो रहा होगा। कुछ लोग खुशी मना रहे थे कि एक विचारधारा वाले दल लड़-झगड़ रहे थे। लेकिन, आज उनको बड़ा झटका लगा होगा।