केंद्रीय मंत्री के तंज पर भड़कीं राबड़ी देवी, चौबे जी, घूंघट वाली महिलाओं से इतनी नफरत और भय क्यों ?

पटना: बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को घूंघट में रहने की केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की नसीहत पसंद नहीं आई। राबड़ी ने इस बयान के बहाने केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर ही सवाल खड़ा कर दिए। बक्सर से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में भाग्य आजमा रहे अश्विनी चौबे ने सीतामढ़ी में पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में कहा, “राबड़ी देवी की क्या कहूं, वह हमारी भाभी हैं। वह घूंघट में ही रहें तो अच्छा है।” इस बयान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी भड़क गईं और उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा। राबड़ी ने ट्वीट किया, “चौबे जी, घूंघट वाली महिलाओं से इतनी नफरत और भय क्यों? क्या यही है आपके नरेंद्र मोदीजी का महिला सशक्तिकरण? यही है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ? आप जैसे चौबे, छब्बे और दूबे की पितृसत्ता से सूबे को हमने छुटकारा दिलाया तो उसकी पीड़ा आपके बयान में नजर आ रही है। इतना बेशर्म मत बनिए।”
ये भी पढ़ें: बिहार में सियासी घमासान तेज, राबड़ी देवी बोलीं- ‘तेजस्वी को CM बनाना चाहते थे नीतीश’राबड़ी का भाजपा पर तंज
राबड़ी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “सुनो अश्विनी चौबे, पहले तुम्हारी सरकार में मंत्री और महिला नेत्री स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण, सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, वसुंधरा राजे सिंधिया को तो घूंघट में रखिए। भाजपा की महिला नेता छुट्टा घूमेंगी और दूसरी घूंघट में? क्या यही है तुम्हारा महिला विरोधी पितृसत्तात्मक संघी संस्कार?” राबड़ी ने अपने अगले ट्वीट में अपने खास अंदाज में भोजपुरी भाषा में कटाक्ष करते हुए कहा, “चौबे जी, औरत के घुघ तान के राखा तारू त काहे के औरत से डर लागता? पांच साल क्षेत्र में ना घुमलू तो औरत तोहार दाढ़ी नोंच के बिग ना दीयसन इहे डर लागता? जइबू क्षेत्र में वोट मांगे त सब औरत से तोहार जवाब मिली!”
 

अश्विनी चौबे जैसे संघी लंपट भूल गए है कि मोहन भागवत जैसे बूढ़े संघी लोगों की हाफ़ पैंट से full पैंट हमने ही करवाया था।मनुवादी भाजपाई गुंडे घृणित मानसिकता के महिला विरोधी लोग है। ये भाजपाई मानसिक रूप से विक्षिप्त जीव है। पता नहीं घर में अपनी माँ-बहन,बेटी को कैसे सम्मान देते है?— rabri devi (@RabriDeviRJD) April 13, 2019