कांग्रेस का आरोप, बनारस में मोदी के रोड शो पर करोड़ों खर्च, 7 प्रदेशों से मंगाए 30 लाख के गुलाब

नई दिल्ली। देश में लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Election ) के तीन चरण संपन्न हो चुके हैं। जबकि शेष चार चरणों में अभी मतदान होना है। चुनावों के बीच देश का सियासी पारा भी सातवें आसमान पर है। इस दौरान चुनाव आयोग के नियमों की भी खुली धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। बात चाहे नेताओं की बदजुबानी की हो या चुनावी खर्च की। राजनीतिक दल और उम्मीदवार आदर्श चुनाव आचार संहिता की खुली अवहेलना कर रहे हैं।
दशाश्वमेध घाट पर PM मोदी ने गंगा जी की पूजा की, कल जाएंगे काल भैरव
ताजा हमला कांग्रेस ने काशी में पीएम नरेंद्र मोदी के रोड शो को लेकर किया है। कांग्रेस का आरोप है कि केंद्र में सत्तारूढ दल भारतीय जनता पार्टी भी चुनाव आयोग के निर्देशों को ताक पर रखकर खुलेआम पानी की तरह पैसा बहा रही है। गौरतलब है कि साल 2014 में आम आदमी पार्टी के संजय सिंंह ने ढाई किलोमीटर के रोड शो पर 6 करोड़ रुपए खर्च होने का आरोप लगाया था। लेकिन इस बार कांग्रेस का कहना है कि 6 किलोमीटर पर यह आंकड़ा 8 करोड़ से ज्यादा तक पहुंचता दिख रहा है। यानी हर किलोमीटर पर भाजपा ने औसतन सवा करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च कर दिए हैं।
केजरीवाल बोले- हम कांग्रेस के लिए दिल्ली की सातों सीट छोड़ देते लेकिन….
दिल्ली और लखनऊ से मंगवाए गए फूल
नाम नहीं छापने की शर्त पर पार्टी के एक विश्वसनीय कार्यकर्ता ने कहा कि रोड शो में मोदी के स्वागत के लिए 7 प्रदेशों से 30 लाख रुपए खर्च करके ढाई सौ क्विंटल गुलाब मंगाए गए। इनसे पुष्प वर्षा की गई। यह फूल दिल्ली, कोलकाता, लखनऊ अन्य शहरों से फ्लाइट के द्वारा मंगवाए गए। रोड शो में गुलाब की डिमांड बढ़ने से मार्केट में अचानक इसकी कीमतों में उछाल देखने को मिला है। जो गुलाब का फूल बाजार में 15 से 20 रुपए में बिक रहा था, आज वही फूल 30-35 रुपए में बिक रहा है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान पीएम मोदी की चुनावी सभाओं और रैलियों पर हर दिन करीब 50 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसमें 40 लाख रुपए विमान और हेलीकॉप्टर का किराया होता है। इसके अलावा भीड़ जुटाने और अन्य चीज़ों पर भी खर्च किए जाते हैं।कांग्रेस का आरोप, काशी में कालेधन का रोड शो
वहीं इस बार कांग्रेस ने इस रोड शो पर तीखा प्रहार किया है। कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी ने कहा कि मोदी का प्रचार कालेधन की बुनियाद पर टिका है और चुनाव आयोग पीएम मोदी के सामने मूक दर्शक बनकर खड़ा है, जो प्रजातंत्र के लिए घातक है। काशी के रोड शो में करोड़ों के फूल और गुब्बारे इस्तेमाल किए गए हैं, जो चुनाव आयोग को दिखाई नहीं दे रहे। रोड शो में जितना पैसा बहाया गया है, उतने में तो बनारस में विकास की गंगा बह जाती। मां गंगा को जिस तरह से पीएम ने छला है उनका आशीर्वाद 23 मई को उन्हें मिल जाएगा।

बुंदेलखंड में पानी की कमी है परंतु शहंशाह की शान में पानी सड़क पर बहाया गया और काशी में करोड़ों रुपए पानी की तरह बहा कर रोड शो किया गया अजब गजब हाल है मोदी जी आपकी सादगी का।— Rajiv Tyagi (@RTforINC) April 25, 2019

मोदी जी ने कहा था काले धन को खत्म करेंगे लेकिन काशी में काले धन का रोड शो मे बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं मोदी जी के दोगले पन की भी हद है गंगा साफ नहीं हुई काशी में मंदिर तोड़े गए बुनकर बेहाल है किसान परेशान हैं नौजवान हैरान हैं और मोदी जी काले धन से अपनी छवि सफेद करने में लगे हैं।— Rajiv Tyagi (@RTforINC) April 25, 2019

कांग्रेस प्रवक्ता त्याागी ने गंगा आरती के दौरान पीएम मोदी के बैठने को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म में बैठक कर आरती नहीं की जाती है।

काशी में मां गंगा की आरती करते हुए नरेंद्र मोदी जी सनातन धर्म में कभी बैठकर आरती नहीं की जाती है और मां की आरती तो निश्चित रूप से खड़े होकर ही की जाती है ?कैसे सनातनी हो मोदी जी! pic.twitter.com/zNR4YHuuUF— Rajiv Tyagi (@RTforINC) April 25, 2019

2014 में 6 करोड़ खर्च का लगा था आरोप
दरअसल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान पीएम मोदी के वाराणसी में हुए रोड शो पर भी भारी भरकम खर्च किया गया था। करीब 6 करोड़ रुपए खर्च करने की बात सामने आई थी। आम आदमी पार्टी ने उस वक्त रोड शो पर सवाल उठाया था। आप नेता संजय सिंह ने दावा किया था कि पीएम मोदी के रोड शो पर भाजपा ने करीब छह करोड़ रुपए खर्च किए हैं।प्रियंका गांधी ने भी खड़े किए सवाल
प्रियंका गांधी ने भी मोदी के हाल ही में हुए रोड शो पर तंज कसा था। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि जब पूरा बुंदलेखंड, वहां के नर नारी, स्कूलों के बच्चे, फसलें और पशु-पक्षी भयंकर सूखे का आतंक झेल रहे हैं, हमारे प्रधान प्रचारमंत्री के स्वागत में पीने का पानी टैंकरों से बांदा की सड़कों पर उड़ेला जा रहा है। यह चौकीदार हैं या दिल्ली से पधारे कोई शहंशाह? अपने ट्वीट में उन्होंने वीडियो भी शेयर किया था।

जब पूरा बुंदलेखंड, वहाँ के नर नारी, स्कूलों के बच्चे, फसलें और पशु-पक्षी भयंकर सूखे का आतंक झेल रहे हैं हमारे प्रधान प्रचारमंत्री के स्वागत में पीने का पानी टैंकरों से बाँदा की सड़कों पर उड़ेला जा रहा है। यह चौकीदार हैं या दिल्ली से पधारे कोई शहंशाह? pic.twitter.com/LV4IYuwn2g— Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) April 23, 2019

वहीं यूपी कांग्रेस के पूर्व सचिव एवं प्रवक्ता विकास श्रीवास्तव का आरोप है कि जिस तरह से फ्लाइट द्वारा अन्य शहरों से करोड़ों रुपए के फूल और सजावट का सामान मंगवाया गया, उससे बनारस पूरी तरह चमका जाता ।

मोदी जी के रोड़ शो के दौरान सत्ता की हनक और ग्लैमर साफ दिखा,वही आचारसंहिता का उल्लंघन जो हुआ,सो अलग।पिछले बार की तुलना में इस बार दुगना खर्च फिर भी चुनाव आयोग मौन!इवेंट्स कम्पनी ने पंखुड़ियों को बरसा कर माहौल बनाने का प्रयास भी किया,लेकिन मोदी जी को असली जवाब तो अब बनारसी देंगे pic.twitter.com/6wmyEKlFMw— Vikas Srivastava (@VikasInc21) April 25, 2019