कश्मीर मसले पर रुख नहीं बदलेंगे जबतक इसका समाधान नहीं होता : मीरवाइज

श्रीनगर। अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने एक बार फिर कहा कि बल प्रयोग करने से जम्मू एवं कश्मीर के मसले पर अलगाववादी नेताओं का रुख नहीं बदलेगा। पुराने श्रीनगर में स्थित जामिया मस्जिद में शुक्रवार को मीरवाइज उमर ने कहा, “हमारा रुख सत्य पर आधारित है। बल प्रयोग करने के कारण हम अपने रुख में बदलाव नहीं करेंगे, क्योंकि हमारा रुख जम्मू-कश्मीर के लोगों की आकांक्षाओं पर आधारित है।” उन्होंने कहा, “भारत, पाकिस्तान और कश्मीर के नेतृत्व को मसले का समाधान करना है।” मीरवाइज ने कहा, “चुनाव होते रहेंगे और सरकारें आती-जाती रहेंगी, लेकिन कश्मीर मसला तब तक बना रहेगा, जब तक इसका समाधान नहीं होगा।”
ये भी पढ़ें: NIA ने मीरवाइज से दोबारा पूछताछ की, अलगाववादी नेता ने टेरर फंडिंग पर नहीं दिया जवाब
कश्मीरी लोगों की अपेक्षा के हिसाब से हो इस मुद्दे का हल
अलगाववादी नेता पाकिस्तान और भारत के बीच विभाजित जम्मू-कश्मीर को विवादित क्षेत्र मानते हैं और उनका कहना है कि मसले का समाधान नई दिल्ली और इस्लामाबाद को कश्मीरी लोगों की आकांक्षाओं के साथ करना होगा। गौरतलब है कि मीरवाइज को दिल्ली में एनआईए लगातार पूछताछ कर रही थी। 11 अप्रैल को अलगाववादी नेता कश्मीर घाटी पहुंचे। दिल्ली में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकियों की फंडिंग के मामले में उनसे तीन दिनों तक पूछताछ की। एनआईए के पास मीरवाइज के खिलाफ कई सबूत होने की भी बात आ रही है। फिलहाल जांच एजेंसी आगे भी पूछताछ करने की बात कह रही है।