एक्टर दंपति जीविथा-राजशेखर की वाईएसआरसीपी में वापसी, कहा- मिट गई कड़वाहट

नई दिल्ली। तेलुगू एक्टर दंपति जीविथा और राजशेखर सोमवार को फिर से वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) में शामिल हो गए। उन्होंने वाईएसआरसीपी अध्यक्ष वाई.एस.जगनमोहन रेड्डी से उनके लोट्स पांड निवास पर मुलाकात की और औपचारिक रूप से पार्टी में शामिल हुए। राजशेखर ने बाद में मीडिया से कहा कि उन्होंने काफी लंबे समय बाद जगन से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि उनके बीच की अब पूरी कड़वाहट मिट गई है और उन्होंने स्वीकार किया है उन्होंने अपरिपक्व व्यवहार किया था।
राजशाही परिवार के ताने पर प्रियंका का कटाक्ष, दादी इंदिरा ने ही हटाईं थी राज घरानों की सुविधाएं
उन्होंने टिप्पणी की कि ‘आज के जगन पहले के जगन से अलग हैं। जोड़े ने आंध्र प्रदेश के लोगों से जगन को सेवा का मौका देने की अपील की। उन्होंने वाईएसआरसीपी प्रमुख के मुख्यमंत्री बनने का भरोसा जताया और उन्हें अपने समर्थन का भरोसा दिया। दंपति कांग्रस में 2008 में शामिल हुए जब जगन के पिता वाई.एस.राजशेखर रेड्डी अविभाजित आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। वाईएसआर के 2009 में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन के बाद उन्होंने जगन का कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ विरोध में समर्थन किया। वे जगन के वाईएसआरसीपी पार्टी बनाने के दौरान साथ थे, लेकिन बाद में उन्होंने दूरी बना ली।
प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तंज, बोलीं- पाकिस्तान बिरयानी खाने कौन गया था?
दंपति ने आरोप लगाया कि जगन पार्टी को जागीर की तरह चला रहे है। जीविथा और राजशेखर 2014 में भाजपा में शामिल हुए, लेकिन उन्हें उचित स्थान नहीं मिला।