आरजेडी नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी को वंदे मातरम बोलने में परेशानी, भाजपा ने बताया बिहार का आजम खान

नई दिल्ली। देश की 17वीं लोकसभा के लिए चल रहा चुनाव का तीसरा चरण करीब है। ऐसे में नेताओं के बयान सियासी माहौल को लगातार गर्मा रहे हैं। ताजा मामला बिहार का है जहां से आरजेडी के वरिष्ठ नेता ने अपने बयान से सनसनी मचा दी है। दरभंगा में लोकसभा चुनाव के उम्मीदवार अब्दुल बारी सिद्दीकी ने वंदे मातरम बोलने से इनकार कर दिया है। सिद्दीकी के इस बयान के बाद नया विवाद खड़ा हो गया है।
दरअसल सिद्दीकी को वंदे मातरम बोलने से दिक्कत तो है ही साथ उन्होंने नाथूराम गोडसे को देश का पहला आतंकवादी भी करार दे दिया। सिद्दीकी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि भाजपा में हिम्मत है तो वह गोडसे मुर्दाबाद का नारा लगाए। सिद्दीकी के इन विवादित बयानों ने बिहार की सियासत में हलचल मचा दी है।
आरजेडी में बगावत के सुर, लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी!
सिद्दीकी के इस बयान के बाद भाजपा की ओर से भी प्रतिक्रिया आई। भाजपा ने सिद्दीकी को बिहार का आजम खान करार दिया है तो जदयू ने कहा है कि आरजेडी प्रत्याशी पर ओवैसी या तेजस्‍वी का असर हुआ है। लेकिन महागठबंधन कांग्रेस सिद्दीकी के बयान पर किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने से बचती दिखी।
आरजेडी प्रत्याशी दरभंगा लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं। अब्दुल बारी सिद्दीकी ने ये कह सियासी भूचाल खड़ा कर दिया है कि उन्हें भारत माता की जय बोलने में आपत्ति नहीं है लेकिन वे वंदे मातरम् नहीं बोल सकते। उधर…सिद्दीकी के बयान से भाजपा नेता काफी भड़के हुए हैं। एक के बाद एक प्रतिक्रियाओं के जरिये वे सिद्दीकी पर कड़ा प्रहार कर रहे हैं।