नई दिल्ली। लगभग हर राजनीतिक मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मतभेद रखने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) ने बड़ा बयान दिया है। बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) के साथ बैठक में शामिल नहीं हुई, क्योंकि वह उन्हें ‘एक्सपायरी प्राइम मिनिस्टर’ मानती हैं।
मोदी पर लगाया राजनीति का आरोप
बंगाल के झारग्राम लोकसभा क्षेत्र के गोपीवल्लभपुर में तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ( TMC ) एक रैली को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम मोदी चक्रवाती तूफान फानी ( Cyclone fani ) को लेकर ओछी राजनीति कर रहे हैं।
बॉक्सर की तरह हैं मोदी, अपने ही नेताओं को मुक्का मारकर पिचका दिए: राहुल गांधी

Mamata Banerjee in Bishnupur: If I am a toll collector then what are you? From head to toe you are filled with people’s blood. When asked what does his (PM) wife do & where does she stay, he (PM) said he doesn’t know. He can’t take care of his wife, he will take care of Indians? https://t.co/VoikojGG32— ANI (@ANI) May 6, 2019

‘सिर से पैर तक खून से सने हैं मोदी’
सीएम बनर्जी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, अगर मैं टोल कलेक्टर हूं तो आप क्या हैं? सिर से लेकर पांव तक लोगों के खून से भरे हैं। जब पूछा जाता है कि उनकी पत्नी क्या करती हैं और कहां रहती हैं, वे (प्रधानमंत्री) कहते हैं कि उन्हें पता नहीं। वे अपनी पत्नी का ख्याल नहीं रख सकते तो देश के लोगों का क्या ध्यान रखेंगे?
मोदी ने बैठक नहीं चुनावी प्रचार किया: ममता
ममता बनर्जी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री से चक्रवाती तूफान ‘फानी’ के बारे में बात करने के लिए विचार कर सकती थीं यदि उन्होंने खासकर तूफान को लेकर बैठक बुलाई होती। लेकिन वह यहां चुनावी प्रचार के लिए आए थे इसलिए वह एक ‘एक्सपायरी प्राइम मिनिस्टर’ के साथ एक भी मंच साझा नहीं करेंगी। ममता ने जोर देकर कहा कि वह 23 मई के बाद नए प्रधानमंत्री के साथ सभी मुद्दों पर चर्चा करेंगी।
कांग्रेस अध्यक्ष को चुनौती, दम है तो राजीव गांधी के नाम पर लड़कर दिखाए चुनाव: PM मोदी
नहीं चाहिए केंद्र से कोई मदद: ममता
तूफान की तबाही को लेकर ममता ने कहा कि मेरी सरकार तूफान प्रभावित लोगों के लिए उपाय और उनकी क्षति पूर्ति करने में सक्षम है। हमें केंद्र से कोई सहायता नहीं चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं मोदी से दो बार मिल चुकी हैं और राज्य के लिए धनराशि की मांग की लेकिन मोदी सरकार ने बंगाल की खातिर कुछ भी नहीं किया।
मोदी ने कहा- ममता ने नहीं रिसीव किया फोन
बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि उन्होंने चक्रवात फानी से हुए नुकसान के आकलन के लिए न तो उनकी फोन कॉल रिसीव की और न वापस उन्हें कॉल की। इतना ही नहीं बंगाल सरकार ने प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान के आकलन के लिए एक बैठक के आग्रह को ठुकरा दिया। इस प्राकृतिक आपदा से ओडिशा में तबाही हुई है।
Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..
Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.