नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर वार पलटवार करने में लगी हैं। बीजेपी लगातार यूपीए सरकार के दौरान आए ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द पर कांग्रेस को घेर रही है। तो अब कांग्रेस की ओर से खुद उस वक्त के गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे सामने आए हैं। उन्होंने कहा खुफिया सूचना के आधार पर उस वक्त ये कार्रवाई हुई थी।
‘राहुल-प्रियंका प्रियंका के साथ आने से घबराहट’
शिंदे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वर्धा रैली के बाद जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि पीएम रोजगार, विकास और किसानों की बात नहीं करते। हमने कभी भी हिंदू आतंकवाद का मुद्दा नहीं उठाया। बहुत समय पहले ऐसे हुआ था लेकिन वो भी खुफिया सूचना के आधार पर। पीएम मोदी ने नौ साल पुराना मुद्दा इस वक्त उठा रहे हैं। वे राहुल गांधी जी और प्रियंका प्रियंका गांधी के साथ आने से घबरा गए हैं।
फेसबुक ने फिर चलाया चाबुक, नमो ऐप से जुड़ी कंपनी के 15 पेज और अकाउंट भी हटाए

Former Home Min S Shinde: PM didn’t speak on jobs,development&farmers’ issue. We never raised issue of Hindu terrorism, been long when we did so, that also on input from intel agencies.He’s digging up 9-yr-old issue today,they’re scared since Rahul ji&Priyanka ji started campaign pic.twitter.com/GTAWdvTiA6— ANI (@ANI) April 1, 2019

कांग्रेस ने ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द उछाला था : मोदी
पूर्वी महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के वर्धा में पीएम ने सोमवार को बीजेपी के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्होंने कांग्रेस पर वोट-बैंक की राजनीति करने के लिए ‘हिंदू आतंक’ शब्द को उछालने का आरोप लगाया। पीएम ने कहा कि हमारे 5,000 वर्ष पुराने संस्कृति में, यह पहली बार है कि कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने शांतिपूर्वक रहने वाले हिंदुओं को आतंकवादी कहने का पाप किया। पूरी दुनिया के सामने उनकी छवि धूमिल करने का काम किया।