नई दिल्ली। कांग्रेस ( Congress ) को बिहार में एकबार फिर बड़ा झटका लगा है। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019 ) के दूसरे चरण से ठीक पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शकील अहमद ( Shakeel Ahmed ) पार्टी प्रवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया है। टिकट ना मिलने से नाराज अहमद ने मधुबनी सीट से बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी।
राहुल गांधी को सौंपा इस्तीफा
शकील अहमद ने ट्वीट किया, ‘मैंने बिहार के मधुबनी संसदीय क्षेत्र से कल अपना नामांकन पत्र दाखिल करने का फैसला किया है। मैं AICC के वरिष्ठ प्रवक्ता के पद से इस्तीफा दे रहा हूं। मैं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज रहा हूं।’

As I have decided to file my nomination papers tomorrow from Madhubani Parliamentary Constituency in Bihar, I’m resigning from the post of Senior Spokesperson of AICC. I’m sending my resignation to Congress President Shri @RahulGandhi .— Shakeel Ahmad (@Ahmad_Shakeel) April 15, 2019

अहमद ने कांग्रेस को दी सलाह
सोमवार को अहमद ने मधुबनी में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने आलाकमान से टिकट अथवा समर्थन देने का आग्रह किया था। कांग्रेस नेता ने उदाहरण देते हुए कहा कि झारखंड के चतरा में हमारे उम्मीदवार के खिलाफ राजद ने दोस्ताना मुकाबले के रूप में अपना उम्मीदवार खड़ा किया है। उसी तरह से मधुबनी से मुझे पार्टी को टिकट देना चाहिए और दोस्ताना मुकाबले में उतरने की अनुमति देनी चाहिए।
क्या है मधुबनी सीट का गणित
बता दें कि महागठबंधन के सीट बंटवारे में मधुबनी सीट विकासशील इंसान पार्टी ( VIP ) के हिस्से आई है, जहां से महागठबंधन ने बद्रीनाथ पूर्वे को अपना उम्मीदवार बनाया है। पूर्वे का मुकाबला बीजेपी के दिग्गज निवर्तमान सांसद हुकुमदेव नारायण यादव के बेटे अशोक यादव से है।